Q&A
02:02 PM | 13-08-2019

Hi my mom is suffering from ILD, artharitis, gastric problem and recently she has went through 2 major operation- thrombectomy and total abdomenal hystectomy Please suggest me something for her good health


Post as Anonymous User
3 Answers

06:53 PM | 13-08-2019

All of these and many more unknown issues that she has that is unnamed and doctors have not pinned it yet is all due to a single issue called bad lifestyle. She has collected a lot of toxins and her organs are failing to work properly. Our body is like a assembly line and if smaller interim parts don’t work well, the final product - general well-being in life also will be questionable. 

 

The only way to reverse is to reverse all the mistakes made in the past - possibly underuse and over-consumption of diary sugar eggs meat fish fried foods , using oil in cooking , using wheat maida ,eating outside foods , hoarding negative emotions against people around, absolutely leading a sedentary lifestyle, not connecting with nature such as exposing to sunlight, touching mud or soil , walking on the lawn or grass , lack of sleep, exposure to cell phones and Tv and things like that. 

 

Start removing all forms of the above foods and feed her as much fruits and veg juices as possible to see any form of improvement. Her body will start releasing toxins from all orifices. Be prepared to manage that with absolutely less load on digestion. Sleep and rest well. 

 

If you need a personal consultation reach wellcure and they  can help



06:51 PM | 13-08-2019

नमस्ते

 

शरीर जो प्रतिक्रिया (respond) कर रहा है। उसकी वजह है अम्लीय पदार्थ (toxic element) का बढ़ना और ऐसा तभी होता है जबकि हाज़मा ठीक ना हो और सही माध्यम से विषाणु तत्व शरीर से नहीं निकल पा रहे हैं।

दिन में दो बार तिल के तेल से घड़ी की सीधी दिशा  (clockwise) में।

और घड़ी की उलटी दिशा  (anti clockwise)में मालिश करें। नरम हाथों से बिल्कुल भी प्रेशर नहीं देना है।

हमारा शरीर 5 तत्व से बना हुआ है वो 5 तत्व का सामंजस्य ठीक प्रकार से होते ही शरीर स्वस्थ हो जाएगा।

1 आकाश तत्व- एक खाने से दूसरे खाने के बीच में विराम दें, रोज़ाना 15 घंटे का उपवास करें जैसे रात का भोजन 7 बजे तक कर लिया और सुबह का नाश्ता 9 बजे लें।

2 वायु तत्व- लंबा गहरा स्वाँस अंदर भरें और रुकें फिर पूरे तरीक़े से स्वाँस को ख़ाली करें रुकें फिर स्वाँस अंदर भरें ये एक चक्र हुआ ऐसे 10 चक्र एक टाइम पर करना है। ये दिन में चार

3 अग्नि तत्व- सूर्य उदय के एक घंटे बाद या सूर्य अस्त के एक घंटे पहले का धूप शरीर को ज़रूर लगाएँ। सर और आँख को किसी सुती कपड़े से ढक कर। जब भी लेंटे अपना दायाँ भाग ऊपर करके लेटें ताकि आपका सूर्य नाड़ी सक्रिय रहे।

4 जल तत्व- खाना खाने से एक घंटे पहले नाभि के ऊपर गीला सूती कपड़ा लपेट कर रखें। खाना के 2 घंटे बाद भी ऐसा कर सकते हैं।

मेरुदंड स्नान के लिए अगर टब ना हो तो एक मोटा तौलिया गीला कर लें बिना निचोरे उसको बिछा लें और अपने मेरुदंड को उस स्थान पर रखें।

मेरुदंड ( स्पाइन) सीधा करके बैठें। हमेशा इस बात ध्यान रखें और हफ़्ते में 3 दिन मेरुदंड का स्नान करें। 

5 पृथ्वी- सब्ज़ी, सलाद, फल, मेवे, आपका मुख्य आहार होगा आप सुबह सफ़ेद पेठे (ashguard) 20 ग्राम पीस कर 100ml पानी मिला कर पीएँ। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है।

दोपहर में 12बजे फिर से इसी जूस को लें और इसके एक घंटे बाद खाना खाएँ, शाम को नारियल पानी लें फिर 2घंटे तक कुछ ना लें।रात के खाने में सलाद बिना नमक के खाएँ।हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें। ताजे नारियल को पीस कर मिलाएँ।

लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। कच्चा पपीता कद्दूकस करके, या सीता फल (yellowpumpkin) को कद्दूकस कर के सलाद में मिलाएँ। इसी तरीक़े से ज़ूकीनी या कद्दू भी मिला सकते हैं।

जानवरों से उपलब्ध होने वाले भोजन वर्जित हैं।

तेल, मसाला, और गेहूँ से परहेज़ करेंगे तो अच्छा होगा।एक नियम हमेशा याद रखें ठोस(solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल  को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें।ठोस  भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ  ले सकते हैं।

हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 8 बजे सलाद लें।

 

दर्द वाले भाग पर गीली मिट्टी लगाएँ या खीरा + धनिया + तिल पीस कर पेस्ट बना लें। लगाएँ 20 मिनट के लिए और फिर साफ़ कर लें। इससे दर्द में तुरन्त आराम मिलेगा।

 

 



03:55 PM | 15-08-2019

Hello:)

All the issues that you have mentioned are because her body has been consuming processed and refined foods. A long term consumption of processed and refined foods slowly start attacking our bones, our digestive system due to which the body responds negatively and becomes unresponsive. 

The very first thing is to keep her on clean diet which includes lot of fresh vegetables soup and lot of consumption of fruits. Dates are also great fruit to help with the digestive system. (Preferrably she can go on a liquid diet for few days, till she feels lighter)

She needs to start working out continuously even if it means it is for 20 minutes. Please encourage her for regular Yoga routine. 

Infact, walking is the best exercise for her. 

She also needs to start becoming grateful about life and things that she has, many times we aren't grateful and that causes physical atrocities too. Positive thinking and Grateful heart keeps an individual away from all of these physical disorders.

Please also take her for a outing...in the nature, where everything around her is green, changing environment and places can also retrieve our health. 

Thanks


Wellcure
'Come-In-Unity' Plan