Q&A
10:42 AM | 31-08-2019

Hello.... Am 21 and my upper abdominal is bloated and i feel unhealthy and it's bloated many times i want to decrease the bloating on upper abdominal so what can i do???


The answers posted here are for educational purposes only. They cannot be considered as replacement for a medical 'advice’ or ‘prescription’. ...The question asked by users depict their general situation, illness, or symptoms, but do not contain enough facts to depict their complete medical background. Accordingly, the answers provide general guidance only. They are not to be interpreted as diagnosis of health issues or specific treatment recommendations. Any specific changes by users, in medication, food & lifestyle, must be done through a real-life personal consultation with a licensed health practitioner. The views expressed by the users here are their personal views and Wellcure claims no responsibility for them.

Read more
Post as Anonymous User
9 Answers

10:37 AM | 01-09-2019

Hlw keshaw 
In today's time unhealthy diet intake couses many problems blotting or gas is one of them 
But in our ancient text there is lots of natural ways or herbs with carminative properties are given which help in blotting some of them are mentioned here 
1 use ginger it is good to prevent blotting 
2 cumin seeds and basil also help in blotting 
3 increase fibrous diet in your meal 
4 daily abhayang on stomach will help you 
5 maintain proper time between 2 meal atleast 4-5 hrs
6 chew your food well
7 do some yoga aasans 
8 avoid oily food, junk food and fast food 

Thanks 



10:39 AM | 01-09-2019

The bloating of the abdomen can be due to accumulation of gas, Do you also have issues of continuous belching and flatulence?

If so by changing your diet and regime and exercising regularly you can easily work on it. Eat at regular intervals, add more raw food in your diet, have more fibre in your food.

Take care.

12:26 AM | 22-09-2019

Yes... There is continuing belching sometimes

Reply


10:38 AM | 01-09-2019

Hi keshav

Bloating is caused due to gastritis
So to reduce the bloating u can apply cold abdominal pack (dipping a cloth in cold water and placing it on the abdomen) for 20 to 30 min daily twice apply it on empty stomach once in the mrng and at night before going to bed, don't apply it immediately after having food let there be a gap of at least 2hrs 

Come to diet you can drink jeera water at night to reduce gastritis

Make sure u eat at proper timings
Improper timings of food is also a main cause for gastritis

Include fresh fruits and vegetables in your diet


Thankyou
Stay healthy stay fit

Dr.Priyanka BNYS
Naturopathy doctor



10:39 AM | 01-09-2019

नमस्ते

ख़राब हाज़मा कमज़ोर पाचन तंत्र का प्रतिक्रिया मात्र है। शरीर में अम्ल की अधिकता है और उसका 

 निष्कासन ठीक प्रकार से और सही माध्यम से ना हो तो शरीर ग़लत माध्यम से शरीर में पनप रहे विषाक्त कणों को निकालता है क्योंकि शरीर का एक लक्ष्य है अनचाहे विषाणुओं को शरीर से निकाल बाहर करना है। एनिमा किट मँगा लें । यह किट ऑनलाइन मिल जाएगा। इससे 100ml पानी गुदाद्वार से अंदर डालें और प्रेशर आने पर मल त्याग करें। ऐसा दिन में दो बार करना है अगले 21 दिनों के लिए। ये करना है ताकि शरीर में उपस्थित विषाणु निष्कासित हो जाये।

1 आकाश तत्व- एक खाने से दूसरे खाने के बीच में विराम दें। रोज़ाना 15 घंटे का उपवास करें जैसे रात का भोजन 7 बजे तक कर लिया और सुबह का नाश्ता 9 बजे लें।

2 वायु तत्व- लंबा गहरा स्वाँस अंदर भरें और रुकें फिर पूरे तरीक़े से स्वाँस को ख़ाली करें रुकें फिर स्वाँस अंदर भरें ये एक चक्र हुआ। ऐसे 10 चक्र एक टाइम पर करना है। ये दिन में चार बार करें।I

खुली हवा में बैठें या टहलें।

3 अग्नि तत्व- सूरर्य उदय के एक घंटे बाद या सूर्य अस्त के एक घंटे पहले का धूप शरीर को ज़रूर लगाएँ। सर और आँख को किसी सूती कपड़े से ढक कर। जब भी लेंटे अपना दायाँ भाग ऊपर करके लेटें ताकि आपकी सूर्य नाड़ी सक्रिय रहे।

4 जल तत्व- खाना खाने से एक घंटे पहले नाभि के ऊपर गीला सूती कपड़ा लपेट कर रखें और खाना के 2 घंटे बाद भी ऐसा करना है।

नीम के पत्ते और खीरे का पेस्ट अपने पेट पर रखें। 20मिनट तक रख कर साफ़ कर लें।

मेरुदंड स्नान के लिए अगर टब ना हो तो एक मोटा तौलिया गीला कर लें बिना निचोरे उसको बिछा लें और अपने मेरुदंड को उस स्थान पर रखें।

मेरुदंड (स्पाइन) सीधा करके बैठें। हमेशा इस बात ध्यान रखें और हफ़्ते में 3 दिन मेरुदंड का स्नान करें। 

5 पृथ्वी- सब्ज़ी, सलाद, फल, मेवे, आपका मुख्य आहार होगा। आप सुबह सफ़ेद पेठे 20ग्राम पीस कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है।

दोपहर में 12 बजे फिर से इसी जूस को लें। इसके एक घंटे बाद खाना खाएँ।शाम को 5 बजे सफ़ेद पेठे (ashguard) 20 ग्राम पीस कर 100 ml पानी मिला। 2घंटे तक कुछ ना लें। रात के सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल ( yellow pumpkin)50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ashgurad) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें।कद्दूकस करके डालें। ताज़ा नारियल पीस कर मिलाएँ। कभी काजू बादाम अखरोट मूँगफली भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। रात का खाना 8 बजे खाएँ।

लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। इसे बिना नमक के खाएँ। नमक सेंधा ही प्रयोग करें। नमक की मात्रा दोपहर के खाने में भी बहुत कम लें। सब्ज़ी पकने बाद उसमें नमक डालें। नमक पका कर या अधिक खाने से शरीर में (fluid)  की कमी हो जाती है। एक नियम हमेशा याद रखें ठोस (solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल (liquid) को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें। ठोस (solid) भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ (liquid) ले सकते हैं।

ऐसा करने से हाज़मा कभी ख़राब नहीं होगा।

जानवरों से उपलब्ध होने वाले भोजन वर्जित हैं।

तेल, मसाला, और गेहूँ से परहेज़ करेंगे तो अच्छा होगा। चीनी के जगह गुड़ लें।

हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 8 बजे सलाद।

धन्यवाद।

रूबी, 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)



10:37 AM | 01-09-2019

Hello Keshav,

There are many reasons why you feel bloated, partly it is because of too much carbohydrates or refined foods. For few days you can go on liquid diet, which consists mostly of home cooked vegetable soups and fruit juices. Ideally, if you go on this diet for atleast 2 days your digestive system will feel at ease and it will be back to normal. It usually takes around 48 hours to 60 hours to get back to normal. 

However when you are on liquid diet you can eat after every 2 hours, please drink lots of water. Green tea also helps with bloating but it has to be pure green leaves which have to be boiled in the water. Kindly follow this for 2-3 days and if you feel relaxed you can start of with normal diet except for try not to eat carbohydrates at dinner time.

Regards 



10:35 AM | 01-09-2019

First of all, if you are on animal products, processed foods like sugar, oils etc, gut will be compromised. In a compromised state even the healthiest of fruits will seem to give you a bloated feeling. So the best to understand that the first step is to remove all the unwanted foods like dairy , meat , eggs, sugar, wheat , maida , rawa , wheat products, packaged foods, fried, sweets etc 

Go on a tender coconut diet for 3 days. If you crave to eat, have only fruits. Start taking a water enema daily once after the normal potty.  Buy a kit.

This will clear and give some room to breathe and digestion to slow down and clear the existing junk. 

The next step is to put only raw all day and majorly juices from veggies and eat fruits and greens all day and in the night , include a handful of millet and more steamed veggies. All foods must not contain any oil forever. Do get back to us to understand how oilfree cooking is done. We suggest that you stay on a fruit and veg salad juices diet for 10-15 days and then add grains for dinner only.  This will help. 

Be blessed
Smitha Hemadri (educator of natural healing practices)



10:34 AM | 01-09-2019

Hi Keshav

Bloating is a sign of improper digestion. 

Lifestyle is the primary factor which decides the health of your body. Let's look at how you spend your day, what you eat, how you rest and what sort of attitude you have. 

Our body cells work better in an alkaline environment. Whatever you eat it leaves either acidic ash or alkaline ash in your body. Highly protein-rich foods like milk, meat and fried products leave an acidic residue in the body. 

Our body is very intelligent and it heals itself. When body gets the acidic ash from the foods as I have mentioned above, as it is not suitable for body so it elimanates by showing you the symptoms of bloating.

Now it is your responsibility to take care of your body as our body is the temple of your soul. 

How to take care, by making changes in the lifestyle. 

By creating an environment which helps the body to release all these toxins. 

1. Start your day with being grateful. 

2. Eat only fruits in your breakfast. Preferably mono fruits. Means one type of a fruit on one day. 

3. Have vegetables juices like beetroot, carrot, spinach etc around 11 am. 

4. Eat Salads before cooked food. There are many interesting recipes in the Recipe section of Wellcure. 

5. Drink water made from adding lemon and mint. It will help you to increase the alkalinity of the body. 

6. Eat dinner very light and eat it before 8 PM 

7. Do little exercises like yoga, pranayam or go for walks. 

8. Enjoy each moment of life as it comes. 

9. Write your thoughts. 

10. See positive in every situation. 

11. Avoid eating out and stop milk and milk products. 

Once you start following this, you will be giving an opportunity to your body to heal. Take care and wish you best. 



09:54 AM | 03-09-2019

Hi 

  • First thing you drink more water, especially Lukewarm water. 
  • Avoid preserved, canned food items, fried and fast foods, maida and white sugar.
  • Take mild and easily digestable food items. 
  • Take ginger lemon tea after meals. 
  • Avoid tea and coffee, dairy products. 
  • Take ajwain soaked in water. 
  • Make a mixture of Dry ginger ajwain jeera a pinch of asafoedita. Grind it and store in a airtight container.Take this before or after meals .it will help to digestion and prevents gas for mating and bloating. 
  • Add more fibre rich foods in your diet for proper elimination.
  • Take abdominal mud pack regularly. 
  • Abdominal massage also more beneficial.
  • Cold hip bath regularly.
  • If you are constipated please take enema also. 

Namasthe!

10:52 AM | 15-09-2019

Very nice

Reply


09:06 AM | 23-09-2019

नमस्ते,

 दिन में कई बार वसायुक्त ,तली भुनी, डिब्बाबंद भोज्य पदार्थ ,मांस इत्यादि के सेवन से भोजन का पाचन ,अवशोषण व मल का निष्कासन सुचारू रूप से नहीं हो पाता जिससे पाचन संस्थान से संबंधित कई रोग उत्पन्न हो जाते हैं ब्लोटिंग या पेट का फूलना भी उनमें से एक है।

 

  •  प्रतिदिन प्रातः गुनगुने पानी ,नींबू व शहद का सेवन करें इससे आंत में स्थित अशुद्धियां बाहर निकल जाती हैं ।

 

  • भोजन -हल्के सुपाच्य मौसमी फल व हरी पत्तेदार सब्जियों से युक्त भोजन खूब चबा चबाकर , प्रातः 9:00 से 11:00 बजे के बीच सेवन करें , इस समय पर्याप्त मात्रा में  पाचक रस का स्राव होता रहता है जिससे भोजन का पाचन आसानी से हो जाता है।

 

  • भोजन से 30 मिनट पहले व भोजन के 90 मिनट बाद बैठकर  धीरे धीरे जल का सेवन करें।

 

  •  उपवास -सप्ताह में 1 दिन अशुद्धियां शरीर से बाहर करती है व पाचन संस्थान को आराम मिलता है।

 

  • भोजन के बाद प्रतिदिन 50 ग्राम गुड़ रोज खाएं इससे पेट से संबंधित रोग समाप्त हो जाते हैं।

 

  •  क्रिया- वमन धौति- पेट में स्थित अशुद्धियों को बाहर निकाल देता है।

 

  • पेट की लपेट -12 इंच चौड़ा, 3 मीटर लंबा सूती कपड़ा ले लीजिए उसे ठंडे पानी में डूबा कर निचोड़ लीजिए व पेट के चारों तरफ लपेट दीजिए उसके ऊपर समान लंबाई चौड़ाई का ऊनी कपड़ा लेकर लपेट दीजिए (अवधि -30 मिनट )पेट की कार्य क्षमता बढ़ाता है।

 

  • आसन -पवनमुक्तासन ,भुजंगासन, पश्चिमोत्तानासन; पेट में स्थित पाचन अंगों की मालिश करता है, वायु विकार व कब्ज को दूर करने में बहुत बड़ा भूमिका अदा करता है।

नोट-समस्त योग एवं नेचुरोपैथी उपचार अनुभवी योग व नेचुरोपैथी फिजीशियन के निर्देशन में ही ले।

 

 

 

निषेध -गेहूं व मैदे से बने भोज्य पदार्थ ,दूध व दूध के उत्पाद ,चीनी व इससे बने भोज्य पदार्थ ,नशीली वस्तुएं ,क्रोध, ईर्ष्या ,चिंता ,तनाव ,देर रात तक जागरण ।

 

 

ठहाके के साथ हंसे, सकारात्मक सोचे।

 

डॉ.राजेश कुमार 

योग व नेचुरोपैथी फिजीशियन।

 

 


Scan QR code to download Wellcure App
Wellcure
'Come-In-Unity' Plan