Q&A
10:01 AM | 18-09-2019

Can facial paralysis be a reason for stammering after coma?


Post as Anonymous User
4 Answers

05:22 PM | 19-09-2019

नमस्ते

कारण - हकलाने की समस्या आत्मविश्वास की कमी, या चोट, मानसिक तनाव से हो सकता है।

समाधान - शारीरिक और मानसिक क्रिया में संतुलन बनाएँ। प्रतिदिन आप ख़ुद को प्यार दें अपने बारे में 10 अच्छी बातें कोरे काग़ज़ पर लिख कर और प्रकृति को अपने होने का धन्यवाद दें।

मानसिक समस्या भी इसी शरीर की समस्या है सब कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि हम किसी भी परिस्थिति में सकारात्मक सोंच रखते हैं या नकारात्मक।

प्राकृतिक जुड़ाव आपको सकारात्मक सोंच प्रदान करेंगी क्योंकि प्राकृतिक जीवन शैली अपने आप में पूर्ण भी है और जीवंत भी है। पाँच तत्व से प्रकृति चल रही है और उसी पाँच तत्व से हमारा शरीर चल रहा है।

जीवन शैली - 1 आकाश तत्व- एक खाने से दूसरे खाने के बीच में विराम दें। रोज़ाना 15 घंटे का उपवास करें जैसे रात का भोजन 7 बजे तक कर लिया और सुबह का नाश्ता 9 बजे लें। वाद्य यंत्र शास्त्री संगीत (instrumental classical music)सुनें।

2 वायु तत्व- लंबा गहरा स्वाँस अंदर भरें और रुकें फिर पूरे तरीक़े से स्वाँस को ख़ाली करें रुकें फिर स्वाँस अंदर भरें ये एक चक्र हुआ। ऐसे 10 चक्र एक टाइम पर करना है। ये दिन में चार बार करें।

अपने कमरे में ख़ुशबू दार फूलों को रखें।

3 अग्Iनि तत्व- सूर्य उदय के एक घंटे बाद या सूर्य अस्त के एक घंटे पहले का धूप शरीर को ज़रूर लगाएँ। सर और आँख को किसी सूती कपड़े से ढक कर। जब भी लेंटे अपना दायाँ भाग ऊपर करके लेटें ताकि आपकी सूर्य नाड़ी सक्रिय रहे।

4 जल तत्व- नहाने के पानी में ख़ुशबू वाले फूलों का रस मिलाएँ। नींबू या पुदीना का रस मिला सकते हैं।खाना खाने से एक घंटे पहले नाभि के ऊपर गीला सूती कपड़ा लपेट कर रखें या खाना के 2 घंटे बाद भी ऐसा कर सकते हैं।

मेरुदंड (स्पाइन) सीधा करके बैठें। हमेशा इस बात ध्यान रखें और हफ़्ते में 3 दिन मेरुदंड का स्नान करें। मेरुदंड स्नान के लिए अगर टब ना हो तो एक मोटा तौलिया गीला कर लें बिना निचोरे उसको बिछा लें और अपने मेरुदंड को उस स्थान पर रखें। 

सर पर सूती कपड़ा बाँध कर उसके ऊपर खीरा और मेहंदी या करी पत्ते का पेस्ट लगाएँ,नाभि पर खीरा का पेस्ट लगाएँ।पैरों को 20 मिनट के लिए सादे पानी से भरे किसी बाल्टी या टब में डूबो कर रखें।

5 पृथ्वी- सब्ज़ी, सलाद, फल, मेवे, आपका मुख्य आहार होगा। आप सुबह खीरे का जूस लें, खीरा 1/2 भाग +धनिया पत्ती (10 ग्राम) पीस लें, 100 ml पानी मिला कर पीएँ। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है।

दोपहर में 12 बजे फिर से इसी जूस को लें। इसके एक घंटे बाद खाना खाएँ। शाम को नारियल पानी लें फिर 2 घंटे तक कुछ ना लें। रात के सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें, नारियल की गिरि मिलाएँ।

लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ।इसे बिना नमक के खाएँ, बहुत फ़ायदा होगा।सेंधा नमक केवल एक बार पके हुए खाने में लें। जानवरों से उपलब्ध होने वाले भोजन वर्जित हैं।

तेल, मसाला, और गेहूँ से परहेज़ करेंगे तो अच्छा होगा। चीनी के जगह गुड़ लें।

एक नियम हमेशा याद रखें ठोस(solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल  को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें।ठोस  भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ  ले सकते हैं।

हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 8 बजे सलाद लें।

धन्यवाद।

रूबी

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)



05:51 PM | 09-11-2019

Facial paralysis is more viral in nature and caused due to toxemia. When the paralysis happens, the speech becomes more slurred and not clear as opposed to stammering. Stammering is majorly a lack of coordination between the brain and speech actually coming out. Although it uses some muscles of the face, the people with paralysis may not stammer but the speech gets less distinct.

let us know if you have any questions or you need more details

Be blessed

Smitha Hemadri ( Educator of natural healing practices)



08:43 AM | 23-09-2019

Hello Mridula,

It cannot be exactly ascertained that stammering may be due to facial paralysis, it could be depending on many factors which your specialist can ascertain, however, stammering can be corrected by exercising words or letters which are causing stammering. It's a continuous practice of reading letters or words repeatedly eveeyday till the disorder is corrected.

With everyday practice and positive visualization of being able to speak normally can speed up the stammering correction. This is called programming your subconscious mind to do something that you would like to see and feel in actuality. 

Hope this answers helps you ..😊 

Regards

Dr.Stuti.Pardhe 

 



08:43 AM | 23-09-2019

नमस्ते

कोमा के पश्चात चेहरे के लकवा के साथ हकलाना प्रारंभ हो सकता है क्योंकि मस्तिष्क के दोनों गोलार्धों के बीच संतुलन नहीं रहता, जीभ नियंत्रण में नहीं रहता।

 

  • प्रतिदिन जीभ को ऊपर -नीचे ,दाएं -बाएं ,अंदर- बाहर खींचे ! (प्रत्येक 5 बार)
  • गुब्बारा मुंह से फुलाएं,  मुंह की मांसपेशियों का व्यायाम होता है।
  • मुंह पर अंगुली रख कर मुंह फुलाए।
  •  प्रतिदिन सूर्योदय के बाद 45 मिनट धूप में व्यतीत करें शरीर को आवश्यक विटामिन डी मिलती है ,रक्त संचार बढ़ता है।
  • भोजन में मौसमी फलों व हरी पत्तेदार सब्जियों का प्रयोग करें ,शरीर की क्षारीयता संतुलित रहती है।

Wellcure
'Come-In-Unity' Plan