Q&A
02:49 PM | 09-10-2019

I hv suffering from fungal infection on thighs from past 3- 4 years. Tried various medicines. At the time of medicine course it is cured but after that it starts again. Any natural remedy which can cure this permanently?


Post as Anonymous User
4 Answers

05:58 PM | 09-10-2019

Just to link your question on immunity and this, your issues are majorly toxin accumulation isssue. When you keep some food on the table for few hrs, you won’t notice that it’s slowly getting spoiled. If you leave it for a day, you will see a growth, if you keep it longer, you will see a mold. Similarly, your body has undigested rotting matter yet to go out of the body. If the cleaners are inefficient then the way house remains unclean, similarly with a sluggish excretory organs and clogged lymphatic system, wastes will not be thrown out.

 

Follow this :-

Morning on empty stomach 

 

  • Celery juice 500 ml filtered / ash gourd juice / cucumber juice/ green juice with any watery vegetable like ashgourd / cucumber / ridge gourd / bottle gourd / carrot / beet with ginger and lime filtered/ tender coconut water or more pure veggie juice
  • Throughout the day, have 3 lts of fruit or veg juices.

 

Afternoon from 12 :-  

  • A bowl of fruits - don’t mix melons and other fruits. Eat melons alone. Eat citrus alone 
  • Followed by a bowl of veg salad 
  • Dinner 2-3 hrs before sleep with Fruits or a veg salad only. Your condition may not heal with excess cooked foods or by keeping your old lifestyle anymore. For one month stay full raw and if things get better add gluten free, unpolished grains cooked oilfree cooked for dinner( millets / unpolished rice)
  • Please take enema for 30 days with Luke warm water and then slowly reduce the freq. this is not a substitute for daily nature call . Consult an expert as needed 
  • Include some exercises that involves moving all your parts ( neck , shoulder, elbows, wrist , hip bending twisting , squats, knees, ankles ) .
  • Daily morning for 30 mins atleast expose the wound to the sun 
  • Ensure that you are asleep between 10-2 which is when the body needs deep sleep.

What to Avoid :- 

  • Avoid refined oils, fried food , packaged ready to eat foods, dairy in any form including ghee, refined salt and sugar , gluten , refined oils coffee tea alcohol . 
  • FOod touching Teflon plastic aluminium copper . Use clay / cast iron / steel / glass
  • Avoid non cotton clothes
  • Avoid mental stress by not thinking about things you cannot control. Present is inevitable. Future can be planned. Stay happy. Happiness is only inside yourself . The world around you is a better place if you learn to stay happy inside yourself. Reach us if you need more help in this area. Emotional stress can cascade the effects. Thank your body and love i

Read this journey 

http://www.wellcure.com/health-journeys/45/how-i-overcame-depression-skin-issues-and-healed-my-life

Consumption of leafy greens in all forms is essential along with fruits which will help clean your system. You will start feeling hungry more often. Have fruits. Your body will start eliminating toxins in the form of symptoms, don’t panic. Don’t medicate. Continue a raw routine.

 

Be blessed 

Smitha Hemadri (educator of natural healing practices)



05:27 PM | 14-10-2019

नमस्ते,

फंगल इन्फेक्शन  रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने ,उत्तेजक एंटीबायोटिक दवाओं के प्रयोग, रक्त संचार कम होने, प्रदूषित जगह पर रहने ,गंदे कम कपड़े पहनने की वजह से हो जाते हैं।

  • प्रतिदिन गुनगुुुने पानी, नींबू एवंं शहद का सेवन करें ,इससे शरीर सेेे दूषित पदार्थ बाहर निकल जाते हैं ।
  • प्रतिदिन एलोवेरा ,नारियल पानी या खीरा केेे जूस का सेवन करें।
  • भोजन -80% मौसमी फल एवं हरी पत्तेदार सब्जियों युक्त भोजन को खूब चबा चबाकर सेवन करें ,इससे रक्त में अम्ल एवं क्षार का संतुलन बना रहता है, शरीर के सभी अंग सुचारू रूप से अपना कार्य करते हैं ,शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है।
  •  प्रतिदिन प्यास लगने पर मिट्टी के घड़े में रखे हुए जल को बैठकर धीरे धीरे सेवन करें ,शरीर को पर्याप्त मात्रा में जल की आपूर्ति होती है ,अशुद्धियां शरीर से बाहर निकलती है।
  •  उपवास -शुरू में तीन-चार दिन तक मौसमी फल एवं हरी पत्तेदार सब्जियों पर उपवास रहें।
  •  प्रतिदिन एलोवेरा की हरि परत को हटाकर उसके सफेद मांसल भाग के जूस को प्रभावित जगह पर रगड़ें, 20 मिनट बाद उसे गुनगुने पानी से धो दीजिए एलोवेरा में एंटीफंगल anti-inflammatory antimicrobial गुण होते हैं ए फंगल इंफेक्शन को समाप्त कर देते हैं।
  •  एक चम्मच हल्दी में आधा चम्मच नारियल के तेल को मिलाकर पेस्ट बना लीजिए प्रभावित जगह पर इसका लेप कर दीजिए 30 मिनट पश्चात इसे गुनगुने पानी से धो दीजिए इसमें एंटी फंगल गुण होते हैं जो फंगल इन्फेक्शन को समाप्त कर देते हैं।

निषेध -जानवरों से प्राप्त पदार्थ, चीनी मैदे एवंं वसा से बनी हुई चीजें, रासायनिक साबुन ,शैंपू का प्रयोग ,डिब्बाबंद भोज्य पदार्थ ,नशीली वस्तुएं ,गंदे कपड़े, क्रोध ,ईर्ष्या ,चिंता ,तनाव रात्रि जागरण, सोने से 2 घंटे पहले मोबाइल, टेलीविजन ,कंप्यूटर का प्रयोग।



05:26 PM | 14-10-2019

हेलो,

कारण - फ़ंगस का कारण शरीर में अम्ल की अधिकता है।

कई रेमडी या दवा अधूरे साबित हो रहे हैं क्योंकि आहार शुद्धि नहीं हुई है।

समाधान - नीम और खीरे का पेस्ट फ़ंगल इन्फ़ेक्शन वाले हिस्से पर लगाएँ।

शारीरिक और मानसिक क्रिया में संतुलन बनाए। दौड़ लगाएँ।सुप्त मत्स्येन्द्रासन, धनुरासन

पश्चिमोत्तानासन, अर्धमत्स्येन्द्रासन, शवासन करें।

10% कच्चे हरे पत्ते और सब्ज़ी का जूस बिना नमक निम्बू के लेना है।30% कच्चे सब्ज़ी का सलाद बिना नमक निम्बू के लेना है।10% ताज़ा नारियल सलाद में मिला कर लेना है। 20% फल को लें। पके हुए खाने को केवल एक बार खाएँ नमक भी केवल एक बार पके हुए खाने लें। पके हुए खाने में सब्ज़ी भाँप में पके हों और तेल घी रहित होना चाहिए सब्ज़ी की मात्रा 20% और millet या अनाज की मात्रा 10% हो।  वर्षों से जमी टॉक्सिन को निकालना ज़रूरी है। किसी प्राकृतिक चिकित्सक के देख रेख में पहली बार लें। एनिमा किट मँगा लें । यह किट ऑनलाइन मिल जाएगा। इससे 100ml पानी गुदाद्वार से अंदर डालें और प्रेशर आने पर मल त्याग करें। ऐसा दिन में एक बार करना है अगले 21 दिनों के लिए। ये करना है ताकि शरीर में उपस्थित विषाणु निष्कासित हो जाये।

सब्ज़ी, सलाद, फल, मेवे, आपका मुख्य आहार होगा। आप सुबह खीरे का जूस लें, खीरा 1/2 भाग + धनिया पत्ती (10 ग्राम) पीस लें, 100 ml पानी मिला कर पीएँ। यह juice आप कई प्रकार के ले सकते हैं। पेठे (ashguard ) का जूस लें और कुछ नहीं लेना है। नारियल पानी भी ले सकते हैं। बेल का पत्ता 8 से 10 पीस कर I100ml पानी में मिला कर पीएँ। खीरा 1/2 भाग + धनिया पत्ती (10 ग्राम) पीस लें, 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। बेल पत्ता 8 से 10 पीस कर 100 ml पानी में मिला कर लें। दुब घास 25 ग्राम पीस कर छान कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। कच्चे सब्ज़ी का जूस आपका मुख्य भोजन है।

आकाश तत्व - एक खाने से दुसरे खाने के बीच में अंतराल (gap) रखें।

फल के बाद 3 घंटे, सलाद के बाद 5 घंटे, और पके हुए खाने के बाद 12 घंटे का (gap) रखें।

वायु तत्व - प्राणायाम करें, आसन करें। दौड़ लगाएँ।

अग्नि - सूर्य की रोशनी लें।

जल - अलग अलग तरीक़े का स्नान करें। मेरुदंड स्नान, हिप बाथ, गीले कपड़े की पट्टी से पेट की गले और सर की 20 मिनट के लिए सेक लगाए। स्पर्श थरेपी करें। मालिश के ज़रिए भी कर सकते है। नारियल तेल से

घड़ी की सीधी दिशा (clockwise) में और घड़ी की उलटी दिशा (anti clockwise)में मालिश करें। नरम हाथों से बिल्कुल भी प्रेशर नहीं दें।

पृथ्वी - फल + सूखे फल नाश्ते में और दोपहर के खाने में सलाद + नट्स बिना नमक के और  एक बार पका हुआ खाना रात को 7 बजे से पहले लें।

सेंधा नमक केवल एक बार पके हुए खाने में लें। जानवरों से उपलब्ध होने वाले भोजन वर्जित हैं।

तेल, मसाला, और गेहूँ से परहेज़ करेंगे तो अच्छा होगा। चीनी के जगह गुड़ लें।

एक नियम हमेशा याद रखें ठोस(solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल  को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें।ठोस  भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ  ले सकते हैं।

हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 8 बजे सलाद लें।

धन्यवाद।

रूबी, 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)



05:58 PM | 09-10-2019

Hi. Please refer to the below resources to understand more about skin issues & Nature Cure.

  1. Blog - Skin – An indicator of good health

  2. Real-life natural healing stories of people who cured Skin Issues just by following Natural Laws.

Adopting a natural lifestyle will help you in reclaiming your health. Wellcure’s Buddy Program helps you in making the transition, step by step. If you would like to know more, please email us at info@wellcure.com.


Wellcure
'Come-In-Unity' Plan