Q&A
05:30 PM | 01-11-2019

I am 21 year old and my height is 167 cm. My weight is 46 kg. I want to gain weight. What should I do?

Post as Anonymous User
7 Answers

01:49 PM | 04-11-2019

Hello,

Firstly, it is very important that your digestive system is working properly and your bowels are getting cleared regularly. 

Consume almond milk or soy milk.

Eat peanut butter. 

Soak raisins overnight and have it in the morning. 

Eat dry fruits.

Have sprouts, nuts,beans, fresh fruits and vegetables in your meals. 

Drink water only when you are thirsty. 

Also, do some physical activity like yoga or any other exercise to keep your metabolism active, so that , the food gets absorbed and the digestive system remains healthy. 

Things to avoid
 

  • Avoid dairy products and animal foods as they may disturb your digestive system. 
  • Avoid processed foods, packaged foods, and all the junk foods.

 

Thank you 



01:48 PM | 04-11-2019

Hlw 

Underweight condition is mainly result of lack of proper nutrition in your diet, sedentary lifestyle, lack of sleep or Many reasons are responsible for this 

If your digestive system is not healthy then nothing that you ate will absorb and no results occur so here first of all healthy digestive system is very important for better absorption of food and healthy weight gain 

Start following these tips to stay fit and healthy 

  • Firstly stop consuming heavy diet right now start with fruits and fruit juice 3-4 times in a day till 4-5 days 
  • Add lukewarm water daily in the morning and then go for the gym or yoga daily it increase your body demand and also absorption 
  • After 5th day start consuming light meal with seasonal green vegetables and salade 3 times in a day 
  • Add banana, coconut, apple, spinach, like foods in your meal 
  • Take proper rest of alteast 7 hrs every day 
  • Suryanamaskar daily in morning 
  • Keep your body hydrated all day 

Thanks 



06:16 PM | 02-11-2019

Dear health seeker , not withstanding hereditary and genetic issues, you can put on healthy tissues, provided you follow the tenets of Natural laws governing our organism. 
     I am afraid you might lose some one or two kilos of weight initially following the natural treatment which will comprise of shedding the toxins laid down in your system not allowing the  body's capacity to work at the optimum. 
     1..For 2 to 3 days  subsist on either on fruit juices or fruit diet 
2...Form 4th day  ,eat hand pounded  rice or brown rice or wholemeal wheat roti with  steamed/boiled vegetables and salads in lunch and dinner, in accordance with the law of Vital Economy  means  eat only 2/3rds  capacity of your stomach, don't ever over eat 
3..To  optimize the  metabolism it is very essential that you go for a brisk walk in the early morning for 2 to 3 kms. Deep breathing 
4..Let the sun rays rejuvenate your body and improve your sluggish digestion, Bask in the sun for 30 minutes followed by cold water bath 
5...Self massage  alternate days 
6..Put a wet towel on your abdomen for  20 minutes in the morning or evening at your convenience 
    7..After  some days  include  sweet potatoes, dates,   bananas and coconut milk in the breakfast 
  8.Needless  to mention that avoid all enervating, negative  fast food, all stimulants tea, coffee cola   alcohol, tobacco,,refined,  processed foods, conserving vitality by not engaging in  frivolous activities and habits 
    Thus by improved  metabolism you must be able to put on some  healthy tissues on your frame. Please give more time if you don't get early results ,this program has helped many to  gain weight 
     



06:18 PM | 02-11-2019

नमस्ते,
 

 लंबाई के हिसाब से आपका वजन तो कम है लेकिन उम्र के साथ वजन बढ़ने लगता है, शरीर का वजन पर्याप्त मात्रा में शरीर को पोषण ना मिलने ,रात्रि में पर्याप्त मात्रा में नींद ना लेने ,चिंता ,तनाव, पैंक्रियास में संक्रमण, भूख न लगने, उत्तेजक दवाइयों के दुष्प्रभाव (कैंसर की कीमोथेरेपी) की वजह से शरीर का वजन नहीं बढ़ता ।

 

  • नींद- रात्रि में 7 से 8 घंटे की नींद अवश्य लें, इससे शरीर से दूषित पदार्थ बाहर निकलते हैं, कोशिकाओं की मरम्मत होती है ।

 

  • प्रतिदिन प्रातः अनार ,चुकंदर या पालक के जूस का सेवन करें।

 

  •  भोजन में मौसमी फल एवं हरी पत्तेदार सब्जियों का प्रयोग करें इससे शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषण प्राप्त होता है।

 

  •  प्रतिदिन  मिट्टी के घड़े में रखें जल को प्यास लगने पर बैठकर सेवन करें ,इससे शरीर के सभी अंगों को पर्याप्त मात्रा में जल की आपूर्ति होती है, शरीर के सभी अंगो सुचारू रूप से अपना कार्य करते हैं ।

 

  • प्रतिदिन दिन में तीन चार बार केला का सेवन करें।

 

  •   रात्रि में 6 अंजीर एवं 30 ग्राम किशमिश को पानी में भीगा दें, प्रातः काल उस पानी को पी जाएं एवं अंजीर व किशमिश को खूब चबा चबाकर सेवन करें इससे उच्च कैलोरी प्राप्त होती है।

 

  • प्रतिदिन भुजंगासन,वज्रासन एवं सूर्य नमस्कार का अभ्यास अनुभवी योग एवं नेचुरोपैथी फिजिशन के निर्देशन में ही करें इसे शरीर की मांसपेशियां मजबूत होती हैं।

 

  • प्रसन्ना चित्त रहें खुलकर हंसे ,सकारात्मक सोचें।

 

  • निषेध- जानवरों से प्राप्त भोज्य पदार्थ, चीनी, मैदा से बनी हुई चीजें, क्रोध, चिंता, तनाव, रात्रि जागरण , सोने से 2 घंटे पहले मोबाइल, टेलीविजन एवं कंप्यूटर का प्रयोग।


06:17 PM | 02-11-2019

Hi,

It is extremely important that your gut functions and absorbs whatever nutrition you are consuming. To achieve this avoid overload of toxins and heavy acidic foods like those from animal and dairy foods, packed, processed and highly fried and sugary foods. It is important that you regularly clear your bowels. Consider the following changes

  • Include fresh fruits and raw vegetables as a part of your daily regime. All micronutrients are provided which are essential in many biochemical activities of the body.
  • Try including nut milks. Recipes are available on this platformhttps://www.wellcure.com/recipes/54/coconut-milk-your-easy-and-healthful-replacement-to-dairy-milk. This is one of the many you could try.
  • Physical activity is important. Releases good hormones in the body.
  • Proper rest and sleep are vital. This helps the body repair and rejuvenate.
  • Avoid all processed, packed and sugary, fried foods. They are empty calories. Provide no nutrition to the body.
  • Regular elimination of bowels from the body is essential.
  • Exposure to sunshine and nature. A calm and peaceful mind will have a healthy gut.
  • Regular deep breathing is helpful in reducing stress hormones in the body. Avoid anxiety and worry. This constantly raises the stress hormones in the body and the body cannot perform its functions optimally.

Wishingyou Good Health Always!

Thank you

Regards

 

 



06:17 PM | 02-11-2019

You can start by eating healthy, juicing a lot. Once your digestion and assimilation becomes efficient, your body will start building. Step1 is releasing toxins, cleaning the body, improving the quality of the organs to assimilate and digest and then weight gain happens.

 

Losing or gaining healthy weight happens when your body and mainly your gut is in a good shape to absorb nutrients or shed the excess. The solution is the same for both the cases. Whatever is the imbalance the body decides and fixes it. High raw whole food plant based meal is your solution. Good sleep , exposure to sun, exercises that help you gain healthy muscles. 

Fats don’t come because you have nuts or avocado or coconut. Unless your body is ready to act on the food you eat, no food will help.

The more the body gets digestive rest from cooked and other wrong foods, it will heal u off the your problems and then build you muscles after u work towards it with weights. You cannot eat fats and gain “healthy” weight . You will gain unhealthy weight 

  • Start drinking only fruit and veg cold pressed juices for 10 days. Nothing else. 3-4 lts a day
  • After 10 days eat just stomach full of fruits and greens and occasional vegetables for rest of the month and nothing else.
  • Workout in the gym for 1 hr daily / do 24 surya namaskara daily with regular breathIng. 

You will lose the toxins that have clogged the body and start gaining. To continue a healthy diet and not lose back after that,the following is a lifestyle you can follow this.

 

Morning on empty stomach - Cucumber juice 500 ml filtered / ash gourd juice / cucumber juice 

 

Followed by A big bowl of fruits - don’t mix melons and other fruits. Eat melons alone. Eat citrus alone 

 

Followed by A bowl of veg salad which includes coconut / flax or sesame in any form 

 

More hunger - tender coconut water or coconut pieces with some dates or seed balls with dates 2-3 

 

Dinner 2 hrs before sleep That is Gluten free consisting of unpolished grains or dals of about 30% and 70% veggies

 

Please take enema for 30 days with Luke warm water and then slowly reduce the freq. this is not a substitute for daily nature call . Consult an expert as needed

 

Avoid refined oils, fried food , packaged ready to eat foods, dairy in any form including ghee, refined salt and sugar , gluten , refined oils

 

Include some exercises that involves moving all your parts ( neck , shoulder, elbows, wrist , hip bending twisting , squats, knees, ankles ) 

 

Join a gym or yoga and work towards muscle building. That’s the only way to put on healthy bulk in the body and make yourself toned and stronger 

 

Expose yourself to the sun for 30 mins atleast daily 

 

Ensure that you are asleep between 10-2 which is when the body needs deep sleep. 

 

Avoid mental stress by not thinking about things you cannot control. Present is inevitable. Future can be planned. Stay happy. Happiness is only inside yourself . The world around you is a better place if you learn to stay happy inside yourself. Reach us if you need more help in this area. Emotional stress can cascade the effects. Thank your body and love it.

 

https://www.wellcure.com/health-journey/tags/fitness

 

Be blessed. 

Smitha Hemadri (educator of natural healing practices)



06:15 PM | 02-11-2019

हेलो,

 

कारण - ख़राब हाज़मा और शरीर में आकाश तत्व की कमी के वजह से ऐसा होता है। आकाश तत्व की कमी से होता क्या है की शरीर ने पोषक तत्व जो पाया आपके भोजन से उसको पुरे शरीर में  प्रसार (circulate) नहीं कर पाता है। जैसे की आपके पास पैसे हैं पर आपके लिए जो काम करने वाले लोग हैं उन तक उनकी फ़ीस पहुँच नहीं रही है तो वो काम कैसे करेंगे। ठीक ऐसे ही पोषक तत्व आया मगर शरीर के रक्त, मांसपेशी, कोशिकाओं तक पहुँचा नहीं। क्योंकि उसको पहुँचने के लिए जो (gap) की ज़रूरत है, वो हम नहीं दे रहे है।

समाधान - शारीरिक और मानसिक क्रिया में संतुलन बनाएँ। फल के बाद 3 घंटे का gap रखें। सलाद बाद 5 घंटे का अंतराल रखें। पका हुआ खाना के बाद 12 घंटा का अंतराल रखें। 

जीवन शैली - शरीर पाँच तत्व से बना हुआ है प्रकृति की ही तरह।

आकाश, वायु, अग्नि, जल, पृथ्वी ये पाँच तत्व आपके शरीर में रोज़ खुराक की तरह जाना चाहिए।

पृथ्वी और शरीर का बनावट एक जैसा 70% पानी से भरा हुआ। पानी जो कि फल, सब्ज़ी से मिलता है।

1 आकाश तत्व- एक खाने से दूसरे खाने के बीच में विराम दें। रोज़ाना 15 घंटे का उपवास करें जैसे रात का भोजन 7 बजे तक कर लिया और सुबह का नाश्ता 9 बजे लें।

2 वायु तत्व- लंबा गहरा स्वाँस अंदर भरें और रुकें फिर पूरे तरीक़े से स्वाँस को ख़ाली करें रुकें फिर स्वाँस अंदर भरें ये एक चक्र हुआ। ऐसे 10 चक्र एक टाइम पर करना है। ये दिन में चार बार करें।I

दौड़ लगाएँ। सूर्य नमस्कार 5 बार करें।

3 अग्नि तत्व- सूरर्य उदय के एक घंटे बाद या सूर्य अस्त के एक घंटे पहले का धूप शरीर को ज़रूर लगाएँ। सर और आँख को किसी सूती कपड़े से ढक कर। जब भी लेंटे अपना दायाँ भाग ऊपर करके लेटें ताकि आपकी सूर्य नाड़ी सक्रिय रहे।

4 जल तत्व-खाना खाने से एक घंटे पहले नाभि के ऊपर गीला सूती कपड़ा लपेट कर रखें और खाना के 2 घंटे बाद भी ऐसा करना है।

नीम के पत्ते का पेस्ट अपने नाभि पर रखें। 20मिनट तक रख कर साफ़ कर लें।

मेरुदंड स्नान के लिए अगर टब ना हो तो एक मोटा तौलिया गीला कर लें बिना निचोरे उसको बिछा लें और अपने मेरुदंड को उस स्थान पर रखें।

खाना खाने से एक घंटे पहले नाभि के ऊपर गीला सूती कपड़ा लपेट कर रखें या खाना के 2 घंटे बाद भी ऐसा कर सकते हैं।

मेरुदंड (स्पाइन) सीधा करके बैठें। हमेशा इस बात ध्यान रखें और हफ़्ते में 3 दिन मेरुदंड का स्नान करें।

पेट पर खीरा का पेस्ट 20 मिनट लगाएँ। फिर साफ़ कर लें। पैरों को 20 मिनट के लिए सादे पानी से भरे किसी बाल्टी या टब में डूबो कर रखें।

5. पृथ्वी तत्व-कच्चे सब्ज़ी का जूस आपका मुख्य भोजन है।  सुबह ख़ाली पेट इनमे से कोई भी हरा जूस लें।पेठे (ashguard ) का जूस लें और  नारियल पानी भी ले सकते हैं। बेल का पत्ता 8 से 10 पीस कर 100ml पानी में मिला कर छान कर पीएँ। खीरा 1/2 भाग + धनिया पत्ती (10 ग्राम) पीस लें, 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। दुब घास 25 ग्राम पीस कर छान कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ।

ये जूस सुबह नाश्ते से एक घंटे पहले लें। नाश्ते में फल लें। दोपहर के खाने से एक घंटा पहले हरा जूस लें। खाने में सलाद नमक सेंधा ही प्रयोग करें। नमक की पके हुए खाने में भी बहुत कम लें। सब्ज़ी पकने बाद उसमें नमक डालें। नमक पका कर या अधिक खाने से शरीर में (fluid)  की कमी हो जाती।

सलाद दोपहर 1बजे बिना नमक के खाएँ तो अच्छा होगा क्योंकि नमक सलाद के गुणों को कम कर देता है। सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें और नारियल पीस कर मिलाएँ। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल ( yellow pumpkin)50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ashgurad) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें।कद्दूकस करके डालें।कभी काजू बादाम अखरोट मूँगफली भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी लें।

रात के खाने में इस अनुपात से खाना खाएँ 2 कटोरी सब्ज़ी के साथ 1कटोरी चावल या 1रोटी लें। रात 8 बजे के बाद कुछ ना खाएँ, 12 घंटे का (gap) अंतराल रखें। 8बजे रात से 8 बजे सुबह तक कुछ नहीं खाना है।

एक नियम हमेशा याद रखें ठोस(solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल  को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें।ठोस  भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ  ले सकते हैं।

जानवरों से उपलब्ध होने वाले भोजन वर्जित हैं।

तेल, मसाला, और गेहूँ से परहेज़ करेंगे तो अच्छा होगा। चीनी के जगह गुड़ लें।

हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 8 बजे सलाद लें।

धन्यवाद।

रूबी

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)

 


Wellcure
'Come-In-Unity' Plan