Q&A
09:07 AM | 10-01-2020

I am suffering from psoriasis. Can you please suggest a cure for it?


The answers posted here are for educational purposes only. They cannot be considered as replacement for a medical 'advice’ or ‘prescription’. ...The question asked by users depict their general situation, illness, or symptoms, but do not contain enough facts to depict their complete medical background. Accordingly, the answers provide general guidance only. They are not to be interpreted as diagnosis of health issues or specific treatment recommendations. Any specific changes by users, in medication, food & lifestyle, must be done through a real-life personal consultation with a licensed health practitioner. The views expressed by the users here are their personal views and Wellcure claims no responsibility for them.

Read more
Post as Anonymous User
5 Answers

11:39 AM | 10-01-2020

Dear health seeker Komal,

The real cause of skin problem can be attributed to a simple factor that your lifestyle. Has gone far far away from nature. Ponder over the few  questions:

  1. Do you perspire as a sequel to normal living means, that you must be wearing clothes inimical hazardous to the skin like heavy jeans synthetic clothing putting cosmetics, creams, lotions soaps talcum powder onto to the skin, These all are enemy of skin. Making the skin sluggish not doing its proper job of eliminating toxins through sweat. 
  2. You must be living in for the most part of the day in Ac facilities thus depriving skin to perform its duty of expelling morbid matter. 
  3. These  days  nobody  exposes  his  body to the  air   or to the sun
  4. Most persons bath with hot water and don't rub the skin for allowing the healthy blood in the fine capillaries to flow into it marking skin yet poorer. 
  5. The  diet  is  usually  highly  acidic in  nature  consisting of  more of  carbohydrates,  fats,  proteins, animal  products 

    All the above  factors  are  responsible  for the  skin  disease  named  psoriasis 

You will do  well to  rectify the above  mode causing psoriasis  precipitate If you  put your house in order  by  living a  hygienic lifestyle  as per the  laws governing our organism  ere  long you will be  healthy and  free from  not only  psoriasis but  all  other latent diseases  

  By following nature cure sick becomes well, well becomes better, better still better. Lacs of patients have thus been restored to health. There is no short cuts to health.

Apply mud pack or gobi chandon or  Multani mitti over the seed of psoriasis taking care that mud should be sourced from 5 to 6 feet beneath earth ensuring that mud is free from polluting agents. Alternatively, Multani mitti or simple water packs may be applied for half an hour thrice in a day. Don't apply any medicinal creams since they will leave permanent scar mark, apply coconut oil if skin is dry.

Also, follow the regime as under:_

  1. Ensure to eat only when sufficient true hunger is there to digest the food eaten. We must  eat to  live  and not  live to eat 
  2. As a  start drink any alkaline juice either of the following, ashgourd, bilva patra banana pith. 
  3. Sunbathing in early morning sun for  25 minutes, followed by spinal bath or  full bath 
  4. Some simple  yogic  aasanas 
  5. A  wet  pack over the abdomen for 20 minutes 
  6. Fruit salads or  vegetables salads in  breakfast 
  7. Conservatively  cooked  vegetables and  raw  salads with  enough  coconut scrappings in lunch 
  8. Fruit  juice  at or  around  4PM if  there's  a  sufficiency of  hunger, if not then avoid 
  9. Conservatively  cooked  vegetables plus  one or two roti or small quantity of rice in dinner
  10. Needless to mention that avoid all enervating foods tea and coffee, processed, manufactured, preserved foods, habits and above all totally avoid animal products. 

All your psoriasis and all other health issues will be radically cured within a short period 
   V.S.Pawar            Member Indian institute of natural therapeutics 

    





02:16 PM | 10-01-2020

1. पानी भरपूर मात्रा में पिये ।
2 तला, खट्टा, तीखा, फास्ट फूड ना खाएं।
3. चाइनीज फूड ना खाएं।
4. कब्ज ना होने दें , पेट साफ रहे।
5.mud tharepy is very effective for 
This problem.
6. एसिडिटी ना हो ।   
7. फाइबर युक्त आहार शामिल हो।
6. एल्कलाइन आहार शामिल हो।
7. ताजे फलों को रोज आहार में शामिल करें।



02:15 PM | 10-01-2020

Psoriasis has a direct relation to the metabolism of the body, hence fasting therapy with seven days of juice fasting. Freshly extracted juices like carrot, beetroot, grapes and cucumber could be useful during the fasting therapy. Make a point to avoid citrus fruits as this could aggravate your problem.

After the fasting has been broken, then you could move to a bland diet which comprises mainly of vegetable salads and fruits and later to a very bland diet ( boiled diet ).

Try to avoid tea, coffee, alcohol, social drugs, junk foods, white foods ( refine sugar, salt, and maida ), too oily and spicy diet, carbonated drinks etc.

Try using some natural herbal soaps shampoos and especially which are plant-based products which contain least chemicals.

Try an application of cabbage leaf ( outmost leaves ) and made into a paste and applied on the affected area and then expose those applied body parts to morning sunlight for at least 30-40 mins. 

The same way you could try with potato paste as well and methodology is almost the same.

Apart from this, you may practice yoga ( asanas, pranayama, meditation and deep breathing exercises ) under a well-trained yoga teacher.

If you have access to any Naturopathy hospital or Registered Naturopath it is also advisable to take a detailed consultation with them.



11:41 AM | 10-01-2020

Hi. Please refer to the below resources to understand more about skin issues & Nature Cure.

  1. Blog - Skin – An indicator of good health

  2. Real-life natural healing stories of people who cured Skin Issues just by following Natural Laws. You could specifically read these stories about psoriasis.

    1. Nature helped me get rid of psoriasis, thyroid & fatty liver

    2. Going off-dairy helped me get rid of psoriasis, migraines, colds & digestive issues

Adopting a natural lifestyle will definitely help you reclaim your skin, but it will need some effort & commitment from your side. Wellcure’s Nature-Nurtures Program helps you in making the transition, step by step. You may read more about it here. We will guide you on diet, sleep, exercise, stress to correct your existing routine & make it in line with Natural Laws.  

 



11:33 AM | 10-01-2020

हेलो,

कारण - सोरायसिस एक त्वचा विकार है जिसमें त्वचा पर लाल, परतदार चकत्ते दिखाई देते हैं। सोरायसिस एक संक्रामक रोग नहीं है।

त्वचा हमारे शरीर का सहज ज़रिया है अम्ल (acid) को प्रतिबिम्बित करने का। शरीर (elimination) निष्कासन की प्रक्रिया में लगा है। हम उसको आहार शुद्धि से मदद करें।

समाधान - 1. खीरा+एलोवेरा का पल्प का पेस्ट वंहा लगाएँ जंहा परेशानी है।  20मिनट के लिए लगाएँ।2. त्वचा को गुलाब जल + बेसन और हल्दी से साफ़ करें। साबुन या कोई भी क्रीम का प्रयोग बंद कर दें।3. नहाने के पानी में ख़ुशबू वाले फूलों का रस मिलाएँ। नींबू या पुदीना का रस मिला सकते हैं।खाना खाने से एक घंटे पहले नाभि के ऊपर गीला सूती कपड़ा लपेट कर रखें या खाना के 2 घंटे बाद भी ऐसा कर सकते हैं।

4. मेरुदंड (स्पाइन) सीधा करके बैठें। हमेशा इस बात ध्यान रखें। हफ़्ते में 3 दिन मेरुदंड का स्नान करें। मेरुदंड स्नान के लिए अगर टब ना हो तो एक मोटा तौलिया गीला कर लें बिना निचोरे उसको बिछा लें।अपने मेरुदंड को उस पर रखें।

5. नहाने के पानी में ख़ुशबू वाले फूलों का रस मिलाएँ। नींबू या पुदीना का रस मिला सकते हैं। नीम का रस भी बहुत फ़ायदा करेगा।बार बार कुछ भी खाने से बचे फल के बाद 3 घंटे का अंतराल (gap) रखें। क्षार (alkaline) जूस के बाद 1घंटे का अंतराल रखें। कच्चे सब्ज़ियों के सलाद के बाद 5 घंटे का अंतराल रखें। अनाज और पकी हुई सब्ज़ी अगर तेल रहित (oil free) के बाद 8 घंटे का तेल घी का प्रयोग किया गया हो तो 12 से 13 घंटे का अंतराल रखें। रोज़ाना 15 घंटे का उपवास करें जैसे रात का भोजन 7 बजे तक कर लिया और सुबह का नाश्ता 9 बजे लें। 

6. त्वचा या शरीर के किसी भी हिस्से को स्वस्थ प्रदान करने के लिए ज़रूरी है।

सुबह लंबा गहरा स्वाँस अंदर भरें और रुकें फिर पूरे तरीक़े से स्वाँस को ख़ाली करें रुकें फिर स्वाँस अंदर भरें ये एक चक्र हुआ। ऐसे 10 चक्र एक टाइम पर करना है। ये दिन में चार बार करें।

7.  सूर्य उदय के एक घंटे बाद या सूर्य अस्त के एक घंटे पहले का धूप शरीर को ज़रूर लगाएँ। सर और आँख को किसी सूती कपड़े से ढक कर। जब भी लेंटे अपना दायाँ भाग ऊपर करके लेटें ताकि आपकी सूर्य नाड़ी सक्रिय रहे।

8. सुबह ख़ाली पेट आधा खीरा 5 पुदीने या करी पत्ते के साथ पिस कर उसमें 100ml पानी मिला कर पिएँ। यह juice आप कई प्रकार के ले सकते हैं। पेठे (ashguard ) का जूस लें और कुछ नहीं लेना है। नारियल पानी भी ले सकते हैं। पालक  पत्ते धो कर पीस कर 100ml पानी डाल पीएँ। दुब घास 25 ग्राम पीस कर छान कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। जूस को मुँह में रख कर एक बार सहज स्वाँस लें फिर घूँट अंदर लें।

2 घंटे बाद कोई भी एक तरीक़े का फल नाश्ते में लें।फल को ठीक से चबा कर खाएँ। कोई नमक या चाट मसला या चीनी, दूध मिक्स ना करें। 

दोपहर 12 बजे सफ़ेद पेठे (ashguard) 20 ग्राम पीस 100ml पानी मिला कर लें।

नमक सेंधा ही प्रयोग करें। नमक की पके हुए खाने में भी बहुत कम लें। सब्ज़ी पकने बाद उसमें नमक डालें। नमक पका कर या अधिक खाने से शरीर में (fluid)  की कमी हो जाती।

सलाद दोपहर 1बजे बिना नमक के खाएँ तो अच्छा होगा क्योंकि नमक सलाद के गुणों को कम कर देता है। 

सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें और नारियल पीस कर मिलाएँ। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल ( yellow pumpkin)50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ashgurd) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें।कद्दूकस करके डालें।कभी काजू बादाम अखरोट मूँगफली भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी लें।रात के खाने में इस अनुपात से खाना खाएँ 2 कटोरी सब्ज़ी के साथ 1कटोरी चावल या 1रोटी लें। रात 8 बजे के बाद कुछ ना खाएँ, 12 घंटे का (gap) अंतराल रखें। 8बजे रात से 8 बजे सुबह तक कुछ नहीं खाना है।

9.एक नियम हमेशा याद रखें ठोस(solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल  को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें।ठोस  भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ  ले सकते हैं।जानवरों से उपलब्ध होने वाले भोजन वर्जित हैं। तेल, मसाला, और गेहूँ से परहेज़ करेंगे तो अच्छा होगा। चीनी के जगह गुड़ लें। हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 8 बजे सलाद लें।

10. उपवास के अगले दिन किसी प्राकृतिक चिकित्सक के देख रेख में टोना लें। जिससे आँत की प्रदाह को शांत किया जा सके। एनिमा किट मँगा लें। यह किट ऑनलाइन मिल जाएगा। इससे 200ml पानी गुदाद्वार से अंदर डालें और प्रेशर आने पर मल त्याग करें। ऐसा दिन में दो बार करना है अगले 21 दिनों के लिए। ये करना है ताकि शरीर में मोजुद विषाणु निष्कासित हो जाये। इसके बाद हफ़्ते में केवल एक बार लेना है उपवास के अगले दिन। टोना का फ़ायदा तभी होगा जब आहार शुद्धि करेंगे।धन्यवाद।

रूबी, 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)


Scan QR code to download Wellcure App
Wellcure
'Come-In-Unity' Plan