Q&A
10:23 AM | 27-01-2020

I have small white patch on left corner of mouth over lip. Please guide me in what to do?


The answers posted here are for educational purposes only. They cannot be considered as replacement for a medical 'advice’ or ‘prescription’. ...The question asked by users depict their general situation, illness, or symptoms, but do not contain enough facts to depict their complete medical background. Accordingly, the answers provide general guidance only. They are not to be interpreted as diagnosis of health issues or specific treatment recommendations. Any specific changes by users, in medication, food & lifestyle, must be done through a real-life personal consultation with a licensed health practitioner. The views expressed by the users here are their personal views and Wellcure claims no responsibility for them.

Read more
Post as Anonymous User
4 Answers

03:59 PM | 27-01-2020

A small white patch can be due to two things vitiligo and vitamin deficiency and the most primary cause is skin change is the earliest sign we can get from our unhealthy body. This is the primary focus we should keep on.

It is time to start with a diet which is rich in Vitamin C as well as exercise.

1. Application of turmeric with mustard oil is very much essential to retain the melanin pigment.

2. Rubbing on aloe vera gel which helps in the treatment of the skin, this help in treating the skin.

3. Application of tea tree essential oil also helps in treating the skin well with all the problems.

Hope my suggestions help you.

Thank you



03:59 PM | 27-01-2020

Yes this can heal too with lifestyle changes

  • Healthy Vegan whole food plant-based lifestyle
  • No dairy from animals - milk curd ghee butter cheese paneer malai etc, no meat eggs fish seafood
  • No white sugar or jaggery or other fancy sugars and jaggeries
  • No maida, wheat and other packed ready to eat foods
  • One glass of cucumber juice with mint in the morning upon waking 500ml.
  • Plenty of fruits till 12
  • Veg salads for lunch. Fruit or veg salads for snacking with greens like lettuce Palak mint coriander etc
  • Cooked oil-free dinner unpolished and oil-free
  • On weekends, please replace lunch with a salad or raw lunch and fruits for snacking
  • A lot of tender coconut, dilute lime water, ash gourd juices
  • sit or stand in early morning sun or late evening sun for 20 mins with minimum clothes
  • Stay emotionally happy and away from stress
  • This will slowly show effect in a few months and within 2-4 yrs all the patches will come back to normal.

This is a lifestyle and you will have the tendency to come back to this issue if you repeat current lifestyle.

Please see his journey

https://www.wellcure.com/health-journeys/68/irreversible-vitiligo-reversed-naturally

Thanks and be blessed

Smitha Hemadri ( Educator of natural healing practices)



03:57 PM | 27-01-2020

The presence of red or white patches inside your mouth suggests the possibility of a fungal infection called thrush. The white patches usually get rubbed off, leaving a sore red patch underneath.

A white or greyish colour patch inside your oral cavity or mouth or on your lips is called leukoplakia, or keratosis. It would resemble an irritant like a rough tooth, broken denture, or tobacco can cause cell overgrowth and produce these patches. The habit of chewing the inside of your cheek or lips can also lead to leukoplakia

Some home remedies to manage this condition might be,

  1. Saltwater Gargling– A glass of warm salt water gargling could bring down the irritation on an immediate basis. This could be practised 4-5 times on a daily basis until the ulcers are healed
  2. Application of Coconut Oil– Application of coconut oil over the affected areas could give an immediate analgesic effect and bring down the pain and irritation.
  3. Chewing tender guava or mango leaves– This is a herbal remedy that could be useful to cure it.
  4. Coldwater gargling– Coldwater gargling could numb your oral cavity and could act as analgesic. Even ice application could give you a more effective way to manage pain
  5. Diet– A bland diet that is not oily, spicy, salty and hot could make way to the faster healing process. Consume foods rich in Vit C like orange or lemon as a fruit or in juice form. Also one might have a glass of rice starch made from red rice which could also suffice the Vit B Complex requirements.
  6. Reduce stress and have a proper sleep– If at all if you have the habit of working in the odd hours and if you weren’t able to sleep properly in the last few days it is very essential that you have enough sleep in order to reduce stress.
  7. Application of Aloe Vera - Applying freshly cut aloe gel from a fresh leaf and applied could heal the patches and soothe the wound for faster cure.


03:52 PM | 27-01-2020

हेलो,

कारण - ये त्वचा सम्बंधी विकार है। इस रोग से ग्रसि‍त लोगों के बदन पर अलग-अलग स्‍थानों पर अलग-अलग आकार के सफेद दाग आ जाते हैं।

त्वचा हमारे शरीर का सहज ज़रिया है अम्ल (acid) को प्रतिबिम्बित करने का। शरीर (elimination)निष्कासन की प्रक्रिया में लगा है। हम उसको आहार शुद्धि से मदद करें।

समाधान - 1. खीरा+एलोवेरा का पल्प का पेस्ट वंहा लगाएँ जंहा परेशानी है।  20मिनट के लिए लगाएँ।2. त्वचा को गुलाब जल + बेसन और हल्दी से साफ़ करें। साबुन या कोई भी क्रीम का प्रयोग बंद कर दें।3. नहाने के पानी में ख़ुशबू वाले फूलों का रस मिलाएँ। नींबू या पुदीना का रस मिला सकते हैं।खाना खाने से एक घंटे पहले नाभि के ऊपर गीला सूती कपड़ा लपेट कर रखें या खाना के 2 घंटे बाद भी ऐसा कर सकते हैं।

4. मेरुदंड (स्पाइन) सीधा करके बैठें। हमेशा इस बात ध्यान रखें। हफ़्ते में 3 दिन मेरुदंड का स्नान करें। मेरुदंड स्नान के लिए अगर टब ना हो तो एक मोटा तौलिया गीला कर लें बिना निचोरे उसको बिछा लें।अपने मेरुदंड को उस पर रखें।

5. नहाने के पानी में ख़ुशबू वाले फूलों का रस मिलाएँ। नींबू या पुदीना का रस मिला सकते हैं। नीम का रस भी बहुत फ़ायदा करेगा।बार बार कुछ भी खाने से बचे फल के बाद 3 घंटे का अंतराल (gap) रखें। क्षार (alkaline) जूस के बाद 1घंटे का अंतराल रखें। कच्चे सब्ज़ियों के सलाद के बाद 5 घंटे का अंतराल रखें। अनाज और पकी हुई सब्ज़ी अगर तेल रहित (oil free) के बाद 8 घंटे का तेल घी का प्रयोग किया गया हो तो 12 से 13 घंटे का अंतराल रखें। रोज़ाना 15 घंटे का उपवास करें जैसे रात का भोजन 7 बजे तक कर लिया और सुबह का नाश्ता 9 बजे लें। 

6. त्वचा या शरीर के किसी भी हिस्से को स्वस्थ प्रदान करने के लिए ज़रूरी है।

सुबह लंबा गहरा स्वाँस अंदर भरें और रुकें फिर पूरे तरीक़े से स्वाँस को ख़ाली करें रुकें फिर स्वाँस अंदर भरें ये एक चक्र हुआ। ऐसे 10 चक्र एक टाइम पर करना है। ये दिन में चार बार करें।

7.  सूर्य उदय के एक घंटे बाद या सूर्य अस्त के एक घंटे पहले का धूप शरीर को ज़रूर लगाएँ। सर और आँख को किसी सूती कपड़े से ढक कर। जब भी लेंटे अपना दायाँ भाग ऊपर करके लेटें ताकि आपकी सूर्य नाड़ी सक्रिय रहे।

8. सुबह ख़ाली पेट आधा खीरा 5 पुदीने या करी पत्ते के साथ पिस कर उसमें 100ml पानी मिला कर पिएँ। यह juice आप कई प्रकार के ले सकते हैं। पेठे (ashguard ) का जूस लें और कुछ नहीं लेना है। नारियल पानी भी ले सकते हैं। पालक  पत्ते धो कर पीस कर 100ml पानी डाल पीएँ। दुब घास 25 ग्राम पीस कर छान कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। जूस को मुँह में रख कर एक बार सहज स्वाँस लें फिर घूँट अंदर लें।

2 घंटे बाद कोई भी एक तरीक़े का फल नाश्ते में लें।फल को ठीक से चबा कर खाएँ। कोई नमक या चाट मसला या चीनी, दूध मिक्स ना करें। 

दोपहर 12 बजे सफ़ेद पेठे (ashguard) 20 ग्राम पीस 100ml पानी मिला कर लें।

नमक सेंधा ही प्रयोग करें। नमक की पके हुए खाने में भी बहुत कम लें। सब्ज़ी पकने बाद उसमें नमक डालें। नमक पका कर या अधिक खाने से शरीर में (fluid)  की कमी हो जाती।

सलाद दोपहर 1बजे बिना नमक के खाएँ तो अच्छा होगा क्योंकि नमक सलाद के गुणों को कम कर देता है। 

सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें और नारियल पीस कर मिलाएँ। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल ( yellow pumpkin)50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ashgurd) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें।कद्दूकस करके डालें।कभी काजू बादाम अखरोट मूँगफली भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी लें।रात के खाने में इस अनुपात से खाना खाएँ 2 कटोरी सब्ज़ी के साथ 1कटोरी चावल या 1रोटी लें। रात 8 बजे के बाद कुछ ना खाएँ, 12 घंटे का (gap) अंतराल रखें। 8बजे रात से 8 बजे सुबह तक कुछ नहीं खाना है।

9.एक नियम हमेशा याद रखें ठोस(solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल  को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें।ठोस  भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ  ले सकते हैं।जानवरों से उपलब्ध होने वाले भोजन वर्जित हैं। तेल, मसाला, और गेहूँ से परहेज़ करेंगे तो अच्छा होगा। चीनी के जगह गुड़ लें। हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 8 बजे सलाद लें।

10. उपवास के अगले दिन किसी प्राकृतिक चिकित्सक के देख रेख में टोना लें। जिससे आँत की प्रदाह को शांत किया जा सके। एनिमा किट मँगा लें। यह किट ऑनलाइन मिल जाएगा। इससे 200ml पानी गुदाद्वार से अंदर डालें और प्रेशर आने पर मल त्याग करें। ऐसा दिन में दो बार करना है अगले 21 दिनों के लिए। ये करना है ताकि शरीर में मोजुद विषाणु निष्कासित हो जाये। इसके बाद हफ़्ते में केवल एक बार लेना है उपवास के अगले दिन। टोना का फ़ायदा तभी होगा जब आहार शुद्धि करेंगे।धन्यवाद।

रूबी, 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)


Scan QR code to download Wellcure App
Wellcure
'Come-In-Unity' Plan