Q&A
11:49 AM | 11-02-2020

I have hair over my both ears which looks ugly. I am just trimming for now as a temporary solution but unable to get rid of it permanently. Is there any solution to get rid of this hair permanently and naturally with out any side effects?

Post as Anonymous User
2 Answers

01:46 PM | 12-02-2020

Abnormal or unwanted facial hair growth might occurs due to higher than normal due to the increased level of androgen and testosterone hormones in the body. At times excess use of certain medications also causes facial hair growth. In such cases, it is wise to identify and avoid those medications through proper supervision or guidance from your consulting physicians. Also in cases of PCOS or PCOS, you may see unwanted growth of hair on the face and other body parts occur.

Some natural ways to manage it include the following methods

1) Papaya and turmeric pack: You may take some raw papaya, cut it and grind to make it a paste. Add a teaspoon of turmeric and mix it. Now apply to the parts where hair growth is seen. Leave it for 15-20 mins then rinse. Use regularly until the unwanted facial hair disappears. Alternatively a mix of papaya and aloe vera also more beneficial.

2) Ubtan: You may take tsp sandalwood powder, add 1 tsp turmeric, then 2 tsp besan powder, to the mixture of powder. Now add a little amount of rose water and make a paste. Now, apply the paste on the hairy areas and leave it for 20-30 mins. Then rinse with warm water.

3) Lemon Honey: You can try using 1tsp honey mixed 2 tsp lemon juice. Mix well and apply to the place where hair growth is seen. Rinse after 15-20 mins.

4) Fenugreek and green gram powder: You can try using2 tsp each of green gram mixed with fenugreek grind it and make a fine paste by adding water. Now mix the paste with a pinch of turmeric and mix well again. Now apply it to the hairy areas. Leave it for 20-30 mins. then rinse.

 



01:45 PM | 12-02-2020

हेलो,

कारण - कानों में बालों का आना अनवांटेड हेयर के लिए असंतुलित हार्मोन मुख्य कारक है इसको रिमूव करने के लिए अपने खान-पान में सुधार की सबसे ज्यादा जरूरत है कच्चे सब्जी, फल, मेवे को मुख्य आहार के  रूप मेंं  लिया जाय। हरी सब्जी का जूस, सलाद बिना नमक के और फल स्वास्थ्य को बेहतर स्थिति में लेकर जाएगा।  इससे हारमोंस भी संतुलित होंगे 

समाधान - एक तोलिया गिला करके उसको निचोड़े और उसको अपने पेट पर लपेटे ऐसा 20 मिनट तक करें यह खाना खाने के घंटे पहले या खाना खाने के 2 घंटे बाद कर सकते हैं।

कानों के जो बाल है उसको क्रीम या रिजल्ट से रिमूव ना करें उस पर हल्का सा हाथ में नारियल तेल कपूर मिश्रित लगाकर अपनी एक उंगली से मालिश करें घड़ी की सीधी दिशा में और घड़ी की उलटी दिशा में करें ऐसा 20 मिनट करने से बालों का रिमूव होने का प्राकृतिक प्रोसेस शुरू हो जाएगा।

कुछ आसन और प्राणायाम बहुत ही फायदेमंद साबित होगा या कुछ एक्सरसाइज भी कर सकते हैं या शारीरिक तौर पर खेले जाने वाला खेल कूद को अपना सकते हैं जैसे दौड़ लगाना फुटबॉल खेलना बैडमिंटन खेल ना।

पवनमुक्तासन, सूर्य नमस्कार, अनुलोम-विलोम, भ्रामरी प्राणायाम और उज्जाई प्राणायाम करें।

जीवन शैली - 1. आकाश तत्व - एक खाने से दुसरे खाने के बीच में अंतराल (gap) रखें।

फल के बाद 3 घंटे, सलाद के बाद 5 घंटे, और पके हुए खाने के बाद 12 घंटे का (gap) रखें।

2.वायु तत्व - प्राणायाम करें, आसन करें। दौड़ लगाएँ।

3.अग्नि - सूर्य की रोशनी लें।

4.जल - अलग अलग तरीक़े का स्नान करें। मेरुदंड स्नान, हिप बाथ, गीले कपड़े की पट्टी से पेट की गले और सर की 20 मिनट के लिए सेक लगाए। 

स्पर्श थरेपी करें। मालिश के ज़रिए भी कर सकते है।

कपूर मिश्रित नारियल तेल से पैरों के तलवे पर घड़ी की सीधी दिशा (clockwise) में और घड़ी की उलटी दिशा (anti clockwise)में मालिश करें। नरम हाथों से बिल्कुल भी प्रेशर नहीं दें।

5.पृथ्वी - सुबह खीरा 1/2 भाग धनिया पत्ती (10 ग्राम) पीस लें, 100 ml पानी मिला कर पीएँ। यह juice आप कई प्रकार के ले सकते हैं। पेठे (ashguard ) का जूस लें और कुछ नहीं लेना है। नारियल पानी भी ले सकते हैं। पालक  पत्ते धो कर पीस कर 100ml पानी डाल पीएँ। दुब घास 25 ग्राम पीस कर छान कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। कच्चे सब्ज़ी का जूस आपका मुख्य भोजन है। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है। 

फल को चबा कर खाएँ। इसका juice ना लें। फल सूखे फल नाश्ते में लें।

दोपहर के खाने में सलाद नट्स और अंकुरित अनाज के साथ  सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें और नारियल पीस कर मिलाएँ। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल ( yellow pumpkin)50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ashgurd) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें।कद्दूकस करके डालें।कभी काजू बादाम अखरोट मूँगफली भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। 

लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। लें। बिना नींबू और नमक के लें। स्वाद के लिए नारियल और herbs मिलाएँ।

रात के खाने में इस अनुपात से खाना खाएँ 2 कटोरी सब्ज़ी के साथ 1कटोरी चावल या 1रोटी लेएक बार पका हुआ खाना रात को 7 बजे से पहले लें।

6.सुबह खीरा 1/2 भाग धनिया पत्ती (10 ग्राम) पीस लें, 100 ml पानी मिला कर पीएँ। यह juice आप कई प्रकार के ले सकते हैं। पेठे (ashguard ) का जूस लें और कुछ नहीं लेना है। नारियल पानी भी ले सकते हैं। पालक  पत्ते धो कर पीस कर 100ml पानी डाल पीएँ। दुब घास 25 ग्राम पीस कर छान कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। कच्चे सब्ज़ी का जूस आपका मुख्य भोजन है। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है। 

फल को चबा कर खाएँ। इसका juice ना लें। फल सूखे फल नाश्ते में लें।

दोपहर के खाने में सलाद नट्स और अंकुरित अनाज के साथ  सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें और नारियल पीस कर मिलाएँ। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल ( yellow pumpkin)50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ashgurd) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें।कद्दूकस करके डालें।कभी काजू बादाम अखरोट मूँगफली भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। 

लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। लें। बिना नींबू और नमक के लें। स्वाद के लिए नारियल और herbs मिलाएँ।

रात के खाने में इस अनुपात से खाना खाएँ 2 कटोरी सब्ज़ी के साथ 1कटोरी चावल या 1रोटी लेएक बार पका हुआ खाना रात को 7 बजे से पहले लें।

7.एक नियम हमेशा याद रखें ठोस(solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल  को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें।ठोस  भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ ले सकते हैं।

हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 7 बजे सलाद लें।

8. उपवास के अगले दिन किसी प्राकृतिक चिकित्सक के देख रेख में टोना लें। जिससे आँत की प्रदाह को शांत किया जा सके। एनिमा किट मँगा लें। यह किट ऑनलाइन मिल जाएगा। इससे 200ml पानी गुदाद्वार से अंदर डालें और प्रेशर आने पर मल त्याग करें। ऐसा दिन में दो बार करना है अगले 21 दिनों के लिए। ये करना है ताकि शरीर में मोजुद विषाणु निष्कासित हो जाये। इसके बाद हफ़्ते में केवल एक बार लेना है उपवास के अगले दिन। टोना का फ़ायदा तभी होगा जब आहार शुद्धि करेंगे।

धन्यवाद।

रूबी, 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)


Scan QR code to download Wellcure App
Wellcure
'Come-In-Unity' Plan