Q&A
11:41 AM | 30-07-2020

I am facing indigestion & weak stomach from last 5 yrs due to which i have developed anxiety of going outside my home. Tried few exercises and yoga but nothing really worked. How can i overcome this?


The answers posted here are for educational purposes only. They cannot be considered as replacement for a medical 'advice’ or ‘prescription’. ...The question asked by users depict their general situation, illness, or symptoms, but do not contain enough facts to depict their complete medical background. Accordingly, the answers provide general guidance only. They are not to be interpreted as diagnosis of health issues or specific treatment recommendations. Any specific changes by users, in medication, food & lifestyle, must be done through a real-life personal consultation with a licensed health practitioner. The views expressed by the users here are their personal views and Wellcure claims no responsibility for them.

Read more
Post as Anonymous User
3 Answers

10:46 AM | 31-07-2020

Hello Vinay, 

Digestion problem is due to dietary habits and wrong posture. As today's diet does not give us healthy nutrients to process both have effects on our diet the bad posture acts as an obstruction in our digestive tract. That is why correcting the complete diet and health helps in the treatment of your problem.

With the following advice, we are sure you will be able to treat everything in a holistic way. This will help you in getting good digestion.

Eat:

Start the day with two-three glasses of warm water, this will help in flushing out the toxins and improve the state of metabolism by increasing it. The next thing is the inclusion of vegetable juice in your breakfast as this will help in giving the right amount of energy for the day.

Keep at least two hours gap between your food and your sleep timing at night. You can also choose to have vegetable juice in your breakfast, it is an easier way to absorb all the nutrients.

  1. Tomatoes with black pepper an hour before a meal will help in treating any digestion issue. As tomato helps in balancing the acid-alkaline base of the stomach.
  2. In the morning empty stomach consumes one piece of dates, this helps in keeping the digestive tract clean and healthy for the whole day.
  3. After meals consume fennel seed one teaspoon this will aid constipation and bloating.

Exercise:

  • Taking a brisk walk in the early morning sun rays helps in treating all the problems, as the sun helps in treating the mood and freshen us for the whole day, it stimulates our system and strengthens our immunity. Early morning walk is recommendable.
  • Practising Vajrasana after the meal will help a lot in dealing with any issue of the digestive tract or inflammation.
  • Practice Chakrasana, Pawan Mukht asana, and Balasna will help in constipation and digestion issues. proceeded by Suryanamaskar.
  • Suryanamaskar will help in treating the health issues and will help in dealing with all problems, 12 sets a day is recommendable. If you are a beginner start with 6 and increase it.

Meditation:

Stop using the gadget on hour before sleep, you can use a fragrant diffuser where you can use essential oils, and then with the smell itself, you will start feeling calm. Rosemary and lavender oil will be helpful.

Take 10 long deep breaths, and allowing your body to relax, any thought which comes let it go do not resist. Saying the affirmation, I am healthy and happy" release each breath.

This will help in curbing all your issues even in the long run.

Sleep:

The sleep is a very important part of treating any mental symptom, a sleep cycle of 90 minutes should be completed in order to get a sound body. This sleep cycle should be repeated 5 times. This makes 7-8 hours of healthy sleep.

This will make your body and mind strong and refreshing.

Hopefully, these suggestions will help.

Thank you

03:30 PM | 02-08-2020

My belly fat also increased over the years due to this. Any abs or legs exercise results in loose motion for 2-3 days. What could the problem?

Reply
Dr. Khushbu Suthar

03:36 PM | 02-08-2020

Improving diet and lifestyle is the only advice and option right now! You have to go little light on food I am sure these suggestions will help you




07:37 PM | 31-07-2020

हेलो,
कारण - मानसिक रोग सूचक हैैै ऑक्सीजन और रक्त का संचार ठीक प्रकार से नहीं हो पा रहा है। रक्त और ऑक्सीजन के संचार में कमी होने का मुख्य कारण पाचन तंत्र में अम्ल का बढ़ना है। जैसे वायुमंडल में हवा दूषित होने पर ऑक्सीजन की मात्रा कम हो जाती है उसी तरीके से शरीर में अम्ल की मात्रा बढ़ने से ऑक्सीजन और रक्त की संचार में कमी आती है।
पाचन तंत्र को ठीक करने केे लिए आप अपने आहार शैली में रस फाइबर और जीवन युक्त आहार को शामिल करें।

प्राकृतिक जीवन शैली को अपनाकर इसे पूर्ण रूप से ठीक किया जा सकता है इसको ठीक होने में 8 से 10 महीने का समय लग सकता है।

समाधान - भ्रामरी प्राणायाम,ताड़ासन, नटराजासन

वृक्षासन,हस्तपादासन, सर्वांगासन, हलासन, पवन-मुक्तासन, अनुलोम-विलोम प्राणायाम करें।

प्रतिदिन आप ख़ुद को प्यार दें अपने बारे में 10 अच्छी बातें कोरे काग़ज़ पर लिख कर और प्रकृति को अपने होने का धन्यवाद दें।

मानसिक समस्या भी इसी शरीर की समस्या है सब कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि हम किसी भी परिस्थिति में सकारात्मक सोंच रखते हैं या नकारात्मक।

प्राकृतिक जुड़ाव आपको सकारात्मक सोंच प्रदान करेंगी क्योंकि प्राकृतिक जीवन शैली अपने आप में पूर्ण भी है और जीवंत भी है। पाँच तत्व से प्रकृति चल रही है और उसी पाँच तत्व से हमारा शरीर चल रहा है।

जीवन शैली - 1 आकाश तत्व- एक खाने से दूसरे खाने के बीच में विराम दें। रोज़ाना 15 घंटे का उपवास करें जैसे रात का भोजन 7 बजे तक कर लिया और सुबह का नाश्ता 9 बजे लें। वाद्य यंत्र शास्त्री संगीत (instrumental classical music)सुनें।

2 वायु तत्व- लंबा गहरा स्वाँस अंदर भरें और रुकें फिर पूरे तरीक़े से स्वाँस को ख़ाली करें रुकें फिर स्वाँस अंदर भरें ये एक चक्र हुआ। ऐसे 10 चक्र एक टाइम पर करना है। ये दिन में चार बार करें।

अपने कमरे में ख़ुशबू दार फूलों को रखें।

3 अग्Iनि तत्व- सूर्य उदय के एक घंटे बाद या सूर्य अस्त के एक घंटे पहले का धूप शरीर को ज़रूर लगाएँ। सर और आँख को किसी सूती कपड़े से ढक कर। जब भी लेंटे अपना दायाँ भाग ऊपर करके लेटें ताकि आपकी सूर्य नाड़ी सक्रिय रहे।

4 जल तत्व- 4 पहर का स्नान करें। सुबह सूर्य उदय से पहले नहाने के पानी में ख़ुशबू वाले फूलों का रस मिलाकर स्नान करे।

दोपहर के खाना खाने से एक घंटे पहले नाभि के ऊपर गीला सूती कपड़ा लपेट कर रखें या खाना के 2 घंटे बाद भी ऐसा कर सकते हैं।

शाम को सूर्यअस्त के बाद मेरुदंड (स्पाइन) सीधा करके बैठें। हमेशा इस बात ध्यान रखें और हफ़्ते में 3 दिन मेरुदंड का स्नान करें। मेरुदंड स्नान के लिए अगर टब ना हो तो एक मोटा तौलिया गीला कर लें बिना निचोरे उसको बिछा लें और अपने मेरुदंड को उस स्थान पर रखें। 

रात सोने से पहले गुनगुने पानी से स्नान कर अंत में ठंडे पानी से स्नान करने से नींद अच्छी आएगी।

स्नान करें। नींबू या पुदीना का रस मिला सकते हैं।

सर पर सूती कपड़ा बाँध कर उसके ऊपर खीरा और मेहंदी या करी पत्ते का पेस्ट लगाएँ,नाभि पर खीरा का पेस्ट लगाएँ।पैरों को 20 मिनट के लिए सादे पानी से भरे किसी बाल्टी या टब में डूबो कर रखें।

5 पृथ्वी- सब्ज़ी, सलाद, फल, मेवे, आपका मुख्य आहार होगा। आप सुबह खीरे का जूस लें, खीरा 1/2 भाग धनिया पत्ती (10 ग्राम) पीस लें, 100 ml पानी मिला कर पीएँ। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है।

दोपहर में 12 बजे फिर से इसी जूस को लें। इसके एक घंटे बाद खाना खाएँ। शाम को नारियल पानी लें फिर 2 घंटे तक कुछ ना लें। रात के सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें, नारियल की गिरि मिलाएँ।

लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ।इसे बिना नमक के खाएँ, बहुत फ़ायदा होगा।सेंधा नमक केवल एक बार पके हुए खाने में लें। जानवरों से उपलब्ध होने वाले भोजन वर्जित हैं।

तेल, मसाला, और गेहूँ से परहेज़ करेंगे तो अच्छा होगा। चीनी के जगह गुड़ लें।

6. एक नियम हमेशा याद रखें ठोस(solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल  को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें।ठोस  भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ ले सकते हैं।

हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 8 बजे सलाद लें।

7. उपवास के अगले दिन किसी प्राकृतिक चिकित्सक के देख रेख में टोना लें। जिससे आँत की प्रदाह को शांत किया जा सके। एनिमा किट मँगा लें। यह किट ऑनलाइन मिल जाएगा। इससे 200ml पानी गुदाद्वार से अंदर डालें और प्रेशर आने पर मल त्याग करें। ऐसा दिन में दो बार करना है अगले 21 दिनों के लिए। ये करना है ताकि शरीर में मोजुद विषाणु निष्कासित हो जाये। इसके बाद हफ़्ते में केवल एक बार लेना है उपवास के अगले दिन। टोना का फ़ायदा तभी होगा जब आहार शुद्धि करेंगे।

धन्यवाद।

रूबी, 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)

03:45 PM | 02-08-2020

Can i take aloevera juice or gourd juice early in the morning for better digestion?

Reply
Anchal Kapur

10:39 AM | 03-08-2020

Yes you can




11:22 AM | 31-07-2020

Dear Vinay,

Thanks for sharing your query with us! You seem to be facing chronic digestive issues. We do appreciate that it is a troublesome condition and does start affecting one's day-to-day functioning. This issue has often been discussed on our platform and we also have some resources that we would like to share with you. Before that, please consider this - as per nature cure, the main root cause of all kinds of disease or discomfort is TOXAEMIA - accumulation of un-eliminated toxins within the body.  While some toxins are an output of metabolism, others are added due to an unnatural lifestyle – wrong food habits, lack of rest, stress etc. If not eliminated, the toxins get build up and cause diseases. While the body has an innate capacity to get rid of the toxins, it needs to be supported by way of providing it with the right inputs. 

Adopting a natural lifestyle will help you reclaim your health. We suggest you take a personal consultation with our Natural Health Coach who can understand your background better & suggest the way forward. You can explore our Nature-Nurtures Program for the same. The Natural Health Coach will guide you on diet, sleep, exercise, stress, etc to correct your existing routine & make it in line with Natural Laws. Let us know if you are interested.

In the meanwhile, you may want to explore the following resources:

  1. Blog

  2. Real-life natural healing stories of people who cured digestive issues ​​​​​​​just by following Natural Laws

Wishing you good health!

Team Wellcure


Scan QR code to download Wellcure App
Wellcure
'Come-In-Unity' Plan