Q&A
09:49 AM | 31-07-2020

I am a regular follower of this app. I am having a fever of 99. 6 from the last 2 days. Taking crocin 2 times a day. Fever is goingb and coming back again. Dont know what to do. As this a pandemic time of covid 19, my thought process is going very negative. Please advise.


The answers posted here are for educational purposes only. They cannot be considered as replacement for a medical 'advice’ or ‘prescription’. ...The question asked by users depict their general situation, illness, or symptoms, but do not contain enough facts to depict their complete medical background. Accordingly, the answers provide general guidance only. They are not to be interpreted as diagnosis of health issues or specific treatment recommendations. Any specific changes by users, in medication, food & lifestyle, must be done through a real-life personal consultation with a licensed health practitioner. The views expressed by the users here are their personal views and Wellcure claims no responsibility for them.

Read more
Post as Anonymous User
3 Answers

10:10 AM | 31-07-2020

Hi Sunny

I can imagine your plight. But don't worry. Fever is body's self defense mechanism. Body raises temperature for a reason. Just like you boil water to kill germs, body raises temperature to kill pathogens. If you worry, it will come in the way of the healing process. Just stay relaxed & let the body do its task.

Few days ago I had very high temperature one night. 103-104. Here are a few things that I followed for 3-4 days:

  1. Fasting - I wasn't feeling hungry at all. So I gave digestive rest to my body as it needed to focus on healing. When I felt little hungry, I would reach out for coconut water, a fruit or drink some vegetable juice. No cooked food.
  2. Onion & honey shots - Help in infection. Grate some onion & take 1 tbsp of onion juice. Mix 1/2 tsp of honey, 2-3 ginger drops. Have it half an hour after eating a fruit in the morning. Do this for 3 days.
  3. Tea - Boil ginger, tulsi, black pepper corns, saunf, cinnamon in water & take it as tea twice a day.
  4. Rest a lot physically & mentally. I was just listening to positive talks by sadhguru. Listen to light music.
  5.  Practice deep breathing - anulom vilom - for 5-10 minutes every morning & evening.
  6. Sit in the early morning or late evening sun..

All these things helped me support my body naturally. 1 night the fever was really high & then day by day it started reducing. 

Don't worry. Worrying worsens the problem. Have faith in the body's self healing powers. All the best.

Regds
Anchal



09:48 AM | 03-08-2020

This could be dengue as well....plz contact tje nearest diagnostic centre



12:26 PM | 31-07-2020

हेलो,

कारण - बुखार शरीर के द्वारा चलाया गया वह प्रक्रिया है जिसमें सेल्फ हीलिंग मैकेनिज्म के कारण शरीर द्वारा है तापमान को बढ़ा कर शरीर के हो रहे संक्रमण को रोका जा सके। कोई भी दवाई बुखार को रोकने के लिए उठाया गया गलत कदम है। क्योंकि ऐसा करने से शरीर के अंदर कई तरीके के विषाणु रूप बदल कर किसी और तरीके के बीमारी कि रचना करेंगे।

बुखार आपका दोस्त है प्राकृतिक जीवन शैली और आहार शैली में परिवर्तन कर के शरीर के स्वाभाविक क्रिया को सहयोग दे सकते हैं।

समाधान - 

1. चार भिंडी को लंबा काटकर एक गिलास पानी में डाल दें और सुबह खाली पेट नेचुरल मोशन होने से पहले उसको पी लें। पीते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि पानी को मुंह में रख रख केपीए।

2. सूर्य की रोशनी में 20 मिनट का स्नान सूर्य की रोशनी से करें 5 मिनट सामने 5 मिनट पीछे 5 मिनट दाएं 5 मिनट बाएं भाग में धूप लगाएं। धूप लेट कर लेना चाहिए धूप की रोशनी लेते वक्त सर और आपको किसी सूती कपड़े से ढक ले। सूर्य नारी मंद होने पर  इन्फेक्शन अधिक होता है अतः आप जब भी सोए अपना दायां भाग ऊपर करके सोए। 

3. प्रतिदिन अपने पेट पर खाने से 1 घंटे पहले या खाना खाने के 2 घंटे बाद गीले मोटे तौलिए को लपेटे एक तौलिया गिला करके उसको निचोड़ लें और हूं उस तौलिए को 20 मिनट तक अपने पेट पर लपेटकर रखें ऐसा करने से आपका पाचन तंत्र दुरुस्त होगा।

4. हर 3 घंटे में लंबा गहरा श्वास अंदर लें उसको थोड़ी देर रोकें और फिर सांस को खाली करें। खाली करने के बाद फिर से रुके और फिर लंबा गहरा सांस ले। यह एक चक्र है ऐसा दिन में 10 चक्र करें केवल एक शर्त का पालन करें जब आप लंबा गहरा सांस ले रहे हैं तो अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें ऐसा करने से आपके शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा का बढ़ेगी और ऑक्सीजन का संचार सुचारू रूप से हो पाएगा।

5.सुबह खीरा 1/2 भाग धनिया पत्ती (10 ग्राम) पीस लें, 100 ml पानी मिला कर पीएँ। यह juice आ कई प्रकार के ले सकते हैं। पेठे (ashguard ) का जूस लें और कुछ नहीं लेना है। नारियल पानी भी ले सकते हैं। पालक  पत्ते धो कर पीस कर 100ml पानी डाल पीएँ। दुब घास 25 ग्राम पीस कर छान कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। कच्चे सब्ज़ी का जूस आपका मुख्य भोजन है। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है। 

फल को चबा कर खाएँ। इसका juice ना लें। फल सूखे फल नाश्ते में लें।

दोपहर के खाने में सलाद नट्स और अंकुरित अनाज के साथ  सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें और नारियल पीस कर मिलाएँ। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल ( yellow pumpkin)50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ashgurd) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें।कद्दूकस करके डालें।कभी काजू बादाम अखरोट मूँगफली भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। 

लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। लें। बिना नींबू और नमक के लें। स्वाद के लिए नारियल और herbs मिलाएँ।

रात के खाने में इस अनुपात से खाना खाएँ 2 कटोरी सब्ज़ी के साथ 1कटोरी चावल या 1रोटी लेएक बार पका हुआ खाना रात को 7 बजे से पहले लें।

6. एक नियम हमेशा याद रखें ठोस(solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल  को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें।ठोस  भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ ले सकते हैं।

हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 8 बजे सलाद लें।

7. उपवास के अगले दिन किसी प्राकृतिक चिकित्सक के देख रेख में टोना लें। जिससे आँत की प्रदाह को शांत किया जा सके। एनिमा किट मँगा लें। यह किट ऑनलाइन मिल जाएगा। इससे 200ml पानी गुदाद्वार से अंदर डालें और प्रेशर आने पर मल त्याग करें। ऐसा दिन में दो बार करना है अगले 21 दिनों के लिए। ये करना है ताकि शरीर में मोजुद विषाणु निष्कासित हो जाये। इसके बाद हफ़्ते में केवल एक बार लेना है उपवास के अगले दिन। टोना का फ़ायदा तभी होगा जब आहार शुद्धि करेंगे।

धन्यवाद।

रूबी, 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)


Scan QR code to download Wellcure App
Wellcure
'Come-In-Unity' Plan