Q&A
05:25 PM | 06-08-2019

How to cure fatty liver? Naturally.


Post as Anonymous User
5 Answers

08:07 AM | 07-08-2019

Hello Jatinder Ji,

Liver is an very essential organ of the body.It is responsible for converting the important nutrients into the forms that are needed for healthy body build up.It removes poison from the body by detoxifying the alcohol, medicines and other harmful chemicals that enters the bloodstream.
Fatty Liver problem can occur to any person. Any individual who lives an unhealthy life may suffer from liver diseases that could lead to serious health problems in future.
Avoid taking high dosage medicine for longer period. Maintain life balance by maintaining time for sleeping, eating and physical fitness so that such problems will never occur.
Eat organic fruits and vegetables, avoid sleep under air conditioner for longer period.

To overcome this problem try below remedy:

1. Take 7 almonds
Add 2 dried dates
Add 3 small cardamoms
Soak them in water overnight
Crush them to make fine paste the next morning
Eat once every day

2. Take 4-5 tomatoes
Boil them in 500 ml water for 15 min
De-skin and crush the boiled tomatoes
Press them on a sieve and extract their juice
Drink the juice every morning on an empty stomach

3. Increase intake of whole-wheat flour, brown rice or parboiled rice, mangoes, bananas, tomatoes, spinach, potatoes, Indian gooseberries (amla), grapes, radishes, lemons, dried dates, raisins, almonds, and cardamom.

4. Drink Plenty of water.

5. Take adequate rest.

Thanks.

01:16 AM | 18-08-2019

Nice one Dr

Reply

09:59 AM | 17-08-2019

Thanks Mohan ji for your valuable advice

Reply
Mohan M

10:02 AM | 17-08-2019

Your welcome sir




09:57 PM | 28-08-2019

There are two major types of fatty liver disease- alcohol-induced and nonalcoholic fatty liver disease. Nonalcoholic fatty liver disease is most commonly diagnosed in those who are obese or sedentary and those who eat a highly processed diet. 

 

  • Sticking to a healthy, plant-based diet and getting regular exercise will help.

 

The following remedies are more beneficial:

  • Ash gourd bottle gourd juice daily 
  • Lemon Juice Honey: Drinking lemon-infused water every day can maintain the C-Vitamin levels in the body, which can help in detoxification.
  • Boil some water pinch of Turmeric ginger and lemon drink Warm.
  • Turmeric is a natural cure for fatty liver, for its effectiveness in killing fat cells and deposits. Curcumin, found in Turmeric is proven to be effective in treating the non-alcoholic steatohepatitis (NASH). Use turmeric as a tea or a detox drink with lemon and ginger.
  • Indian Gooseberry or Amla a rich source of Vitamin C, it can cure many ailments of the Liver. This anti-oxidant fruit helps in cleansing the liver of toxins and protecting it from further damage.
  • Chew a few pieces of Amla first thing in the morning and swallow the juice/ 1 tbsp of Amla juice with warm water in the morning.
  • 1-2 Cinnamon sticks boil in water Wait for 2-3 minutes and strain, Serve it hot.

Naturopathic management:

 

Neutral hipbath

Cold compress/ cold abdomen pack

Gastro hepatic pack 15-20 mins 

Mild abdominal massage 

 

Lifestyle Changes

  • Drink plenty of water.
  • Losing weight/ Prevent weight gain (in case of overweight) to prevent Fatty Liver, keep a check on your calorie intake count.
  • Eating a healthy diet rich in fruits and vegetables can ensure the liver health.
  • Exercising for at least 30 minutes a day.
  • Avoid medication without prescription.
  • Consume Vitamin E and anti-oxidants rich diet.

01:59 PM | 11-09-2019

Thanks

Reply


07:55 PM | 17-08-2019

नमस्ते

 

शरीर में अम्लीयता अधिक होने से यह समस्या होती है।आपके शरीर में excess प्रोटीन बन रहा या जमा है। आपका पाचन तंत्र (digestive system) प्रोटीन को पचा नहीं पा रहा है।अपच (undigested) प्रोटीन के वजह से आपके शरीर में 

परेशानी हो रही है। आप प्रोटीन युक्त भोजन से परहेज़ करें।जानवरों से उपलब्ध होने वाले भोजन वर्जित हैं।

इस बीमारी का मूल कारण हाज़मा और क़ब्ज़ है।

शरीर पाँच तत्व से बना हुआ है प्रकृति की ही तरह।

आकाश, वायु, अग्नि, जल, पृथ्वी ये पाँच तत्व आपके शरीर में रोज़ खुराक की तरह जाना चाहिए।

पृथ्वी और शरीर का बनावट एक जैसा 70% पानी से भरा हुआ। पानी जो कि फल, सब्ज़ी से मिलता है।

1 आकाश तत्व- एक खाने से दूसरे खाने के बीच में विराम दें। रोज़ाना 15 घंटे का उपवास करें जैसे रात का भोजन 7 बजे तक कर लिया और सुबह का नाश्ता 9 बजे लें।

2 वायु तत्व- लंबा गहरा स्वाँस अंदर भरें और रुकें फिर पूरे तरीक़े से स्वाँस को ख़ाली करें रुकें फिर स्वाँस अंदर भरें ये एक चक्र हुआ। ऐसे 10 चक्र एक टाइम पर करना है। ये दिन में चार बार करें।

खुली हवा में बैठें या टहलें।

3 अग्नि तत्व- सूर्य उदय के एक घंटे बाद या सूर्य अस्त के एक घंटे पहले का धूप शरीर को ज़रूर लगाएँ। सर और आँख को किसी सूती कपड़े से ढक कर। जब भी लेंटे अपना दायाँ भाग ऊपर करके लेटें ताकि आपकी सूर्य नाड़ी सक्रिय रहे।

4 जल तत्व- खाना खाने से एक घंटे पहले नाभि के ऊपर गीला सूती कपड़ा लपेट कर रखें और खाना के 2 घंटे बाद भी ऐसा करें।

नीम के पत्ते का पेस्ट अपने नाभि पर रखें। 20मिनट तक रख कर साफ़ कर लें।

मेरुदंड स्नान के लिए अगर टब ना हो तो एक मोटा तौलिया गीला कर लें बिना निचोरे उसको बिछा लें और अपने मेरुदंड को उस स्थान पर रखें।

मेरुदंड (स्पाइन) सीधा करके बैठें। हमेशा इस बात ध्यान रखें और हफ़्ते में 3 दिन मेरुदंड का स्नान करें। 

5 पृथ्वी- सब्ज़ी, सलाद, फल, मेवे, आपका मुख्य आहार होगा। आप सुबह सफ़ेद पेठे 20ग्राम पीस कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है।

दोपहर में 12 बजे फिर से इसी जूस को लें। इसके एक घंटे बाद खाना खाएँ।शाम को 5 बजे सफ़ेद पेठे (ashguard) 20 ग्राम पीस कर 100 ml पानी मिला। 2घंटे तक कुछ ना लें। रात के सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल ( yellow pumpkin)50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ashgurad) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें।कद्दूकस करके डालें। ताज़ा नारियल पीस कर मिलाएँ। कभी काजू बादाम अखरोट मूँगफली भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। रात का खाना 8 बजे खाएँ

लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। इसे बिना नमक के खाएँ। नमक सेंधा ही प्रयोग करें। नमक की मात्रा dopahar के खाने में भी बहुत कम लें। सब्ज़ी पकने बाद उसमें नमक नमक पका कर या अधिक खाने से शरीर में (fluid)  की कमी हो जाती है। एक नियम हमेशा याद रखें ठोस (solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल (liquid) को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें। ठोस (solid) भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ (liquid) ले सकते हैं।

ऐसा करने से हाज़मा कभी ख़राब नहीं होगा।

जानवरों से उपलब्ध होने वाले भोजन वर्जित हैं।

तेल, मसाला, और गेहूँ से परहेज़ करेंगे तो अच्छा होगा।

हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 8 बजे सलाद। 

धन्यवाद।

रूबी, Ruby

प्राकृतिक जीवनशैली शिक्षिका (Nature Cure Educator)

 

04:01 PM | 28-08-2019

Thanks

Reply


09:57 PM | 28-08-2019

There are few cases I have handled including people who weaned from cancer medicines with induced fatty lliver also healed from the same as they fully switched to a whole food plant based lifestyle. Low fat , zero oil and grease usage, high raw. Wfpbd ( whole food ..) removes the need for sugar and things that are processed and refined. Outside packaged foods etc. . Even if you say you are not consuming all this now, the condition did not happen overnight. The liver got to this sluggish and inflamed state over many yrs of toxic waste cleansing. Medicines must be completely removed. Wellcure has plenty of articles if one read will be able to avoid the need for meds when a wfpbd is followed. Vegetarian lifestyle can also cause diseases. Switch to a healthy vegan wfpbd and see the condition magically disappear. 

Wfpbd - Wholefood plant-based diet. Eating plant sourced food available in nature in its natural state. Not as oil, sugar , refined, polished etc

 

Please refer to this journey 

https://www.wellcure.com/health-journeys/79/nature-helped-me-get-rid-of-psoriasis-thyroid-fatty-liver

 

Be blessed

Smitha Hemadri (educator of natural healing practices)



09:57 PM | 28-08-2019

Thanks 


Wellcure
'Come-In-Unity' Plan