Q&A
10:00 AM | 20-01-2020

I have pain all over my feet and back. I also have ACL tear in my right knee. I keep having knee pain now and then. My whole body aches nowadays with numbness in hand and legs. What is happening to me? Can you help?


The answers posted here are for educational purposes only. They cannot be considered as replacement for a medical 'advice’ or ‘prescription’. ...The question asked by users depict their general situation, illness, or symptoms, but do not contain enough facts to depict their complete medical background. Accordingly, the answers provide general guidance only. They are not to be interpreted as diagnosis of health issues or specific treatment recommendations. Any specific changes by users, in medication, food & lifestyle, must be done through a real-life personal consultation with a licensed health practitioner. The views expressed by the users here are their personal views and Wellcure claims no responsibility for them.

Read more
Post as Anonymous User
3 Answers

02:24 PM | 27-01-2020

Acl tear was also because of the weakness of the muscular and skeletal system due to the lifestyle you are leading. I have recovered from ACL successfully and I a lot of exercises that involve the muscles of my knee. I have had muscular atrophy after my wrist fracture 6 months ago after an accident and surgery too and I don't have 100% angular movements in my wrist yet, but I have progressed a lot in the last 1 month.

From a diet perspective, you have to first focus on increasing your hydration to 3-4 lts coming from pure juices, natural sources and water. Increase your raw intake all day and stay on cooked only for dinner. The cooked must be free of any animal products like dairy, meat eggs fish. Must be free of oils and gluten. You must stay away from processed and refined junk like refined sugar.

From a fitness perspective, start focusing on functional exercises that slowly build your lean muscles in the leg. You can consult a functional fitness expert for this. Your ligament issue will take time to heal.. give it few months of consistency. That would have build itself. The muscles are the ones that bother after the recovery. You need to make it work from scratch. You will also have to move all the parts of the body and strengthen your muscles.

Pains are good. It means the body is working on cleaning that part. However, if you continue to have animal products, they will leech calcium and weaken your bones over time.

Expose yourself to the sun for 45mins daily.

If you need to consult with me personally, reach me.

Be blessed.

Smitha Hemadri (Holistic lifestyle coach)



11:55 AM | 27-01-2020

Dear health seeker Archana, 
You are having multiple health issues, acl tear, pain in legs, back, numbness etc.  Are indicative that the life thus far lived has not been a hygienic one in accordance with the law of nature governing our organism, You have gone far far away from a hygienic lifestyle. You will have to reform your habits and lifestyle totally to regain your lost health. It is my sincere advised based on my 45 years experience that if anyone can restore you back to health  then it will only be Basic nature cure. If you resolve to follow the undermentioned guidelines  all your health issues will be taken care of. 

  1. ensure to eat only when sufficient true hunger is there to digest the food eaten. We must eat to live and not live to eat 
  2. As a  start, drink any alkaline juice either of the following, ashgourd, bilva patra  banana pith. 100 ml .
  3. Sun bathing in early morning sun for  25 minutes, followed by a spinal bath or  full bath
  4. Some simple  yogic  aasanas 
  5. A  wet  pack over the abdomen for 20 minutes 
  6. Fruit salads or  vegetables salads in  breakfast 
  7. Conservatively  cooked  vegetables and  raw  salads with  enough  coconut scrappings in lunch 
  8. Fruit juice at or around 4 PM if  there's a sufficiency of hunger, if not then avoid
  9. Conservatively cooked vegetables without oil spices and condiments and 1/4th coconut for a week, After a week small quantities of brown rice, or one roti either of ragi,  millet,  jowar,  wheat may be introduced. Please ensure to live on this frugal diet as long as you probably can. Since all chronic patients have to live mainly on fruits and vegetables raw and cooked.
  10. Needless to mention that avoid all enervating foods tea and coffee, processed, manufactured, preserved foods, habits.
  11. From your narrative, it can be concluded that you have eaten highly acidic foods, perhaps of animal origin, like milk products, meats, eggs etc. Please refrain totally from all these. 

All your health issues will be radically cured within a short period 

V.S.Pawar            Member Indian institute of natural therapeutics 

    




 



10:45 AM | 23-01-2020

हेलो,

कारण - परिधीय तंत्रिका तंत्र (peripheral nervous system), तंत्रिका तंत्र का वह भाग है जो संवेदी न्यूरानों तथा दूसरे न्यूरानों से बनती है जो केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को परिधीय तंत्रिका तंत्र से जोड़ते हैं। इसमें केवल तंत्रिकाओं का समूह है, जो मेरूरज्जु से निकलकर शरीर के दोनों ओर के अंगों में विस्तृत है।

तंत्रिका को नुकसान से कमज़ोरी, सुन्न पड़ना और दर्द, आमतौर पर हाथों और पैरों में और बाद में पूरे शरीर होता है।

परिधीय न्‍यूरोपैथी का मुख्य कारण चोट, संक्रमण होता है।

स्वास्थ की ये समस्या शरीर में अम्ल की अधिकता से होती है। आहार शुद्धि और जीवनशैली में परिवर्तन  से ये ठीक हो जाएगा।

समाधान - मेरुदंड स्नान के लिए अगर टब ना हो तो एक मोटा तौलिया गीला कर लें बिना निचोरे उसको बिछा लें और अपने मेरुदंड को उस स्थान पर रखें।

मेरुदंड (स्पाइन) सीधा करके बैठें। हमेशा इस बात ध्यान रखें।

जीवन शैली-  1आकाश तत्व - एक खाने से दुसरे खाने के बीच में अंतराल (gap) रखें।

फल के बाद 3 घंटे, सलाद के बाद 5 घंटे, और पके हुए खाने के बाद 12 घंटे का (gap) रखें।

2.वायु तत्व - प्राणायाम करें, आसन करें। दौड़ लगाएँ।

3.अग्नि - सूर्य की रोशनी लें।

4.जल - अलग अलग तरीक़े का स्नान करें। मेरुदंड स्नान, हिप बाथ, गीले कपड़े की पट्टी से पेट की गले और सर की 20 मिनट के लिए सेक लगाए। 

स्पर्श थरेपी करें। मालिश के ज़रिए भी कर सकते है। 

मेरुदंड पर नारियल तेल से घड़ी की सीधी दिशा (clockwise) में और घड़ी की उलटी दिशा (anti clockwise)में मालिश करें। नरम हाथों से बिल्कुल भी प्रेशर नहीं दें।

5.पृथ्वी - सुबह खीरा 1/2 भाग + धनिया पत्ती (10 ग्राम) पीस लें, 100 ml पानी मिला कर पीएँ। यह juice आप कई प्रकार के ले सकते हैं। पेठे (ashguard ) का जूस लें और कुछ नहीं लेना है। नारियल पानी भी ले सकते हैं। पालक  पत्ते धो कर पीस कर 100ml पानी डाल पीएँ। दुब घास 25 ग्राम पीस कर छान कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। कच्चे सब्ज़ी का जूस आपका मुख्य भोजन है। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है। 

फल को चबा कर खाएँ। इसका juice ना लें। फल + सूखे फल नाश्ते में लें।

दोपहर के खाने में सलाद + नट्स और अंकुरित अनाज के साथ  सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें और नारियल पीस कर मिलाएँ। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल ( yellow pumpkin)50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ashgurd) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें।कद्दूकस करके डालें।कभी काजू बादाम अखरोट मूँगफली भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। 

लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। लें। बिना नींबू और नमक के लें। स्वाद के लिए नारियल और herbs मिलाएँ।

रात के खाने में इस अनुपात से खाना खाएँ 2 कटोरी सब्ज़ी के साथ 1कटोरी चावल या 1रोटी लेएक बार पका हुआ खाना रात को 7 बजे से पहले लें।

6.सेंधा नमक केवल एक बार पके हुए खाने में लें। जानवरों से उपलब्ध होने वाले भोजन वर्जित हैं।

तेल, मसाला, और गेहूँ से परहेज़ करेंगे तो अच्छा होगा। चीनी के जगह गुड़ लें।

7.एक नियम हमेशा याद रखें ठोस(solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल  को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें।ठोस  भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ  ले सकते हैं।

हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 8 बजे सलाद लें।

8.उपवास के अगले दिन किसी प्राकृतिक चिकित्सक के देख रेख में टोना लें। जिससे आँत की प्रदाह को शांत किया जा सके। एनिमा किट मँगा लें। यह किट ऑनलाइन मिल जाएगा। इससे 200ml पानी गुदाद्वार से अंदर डालें और प्रेशर आने पर मल त्याग करें। ऐसा दिन में दो बार करना है अगले 21 दिनों के लिए। ये करना है ताकि शरीर में मोजुद विषाणु निष्कासित हो जाये। इसके बाद हफ़्ते में केवल एक बार लेना है उपवास के अगले दिन। टोना का फ़ायदा तभी होगा जब आहार शुद्धि करेंगे।

धन्यवाद।

रूबी, 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)

 


Scan QR code to download Wellcure App
Wellcure
'Come-In-Unity' Plan