Loading...

Q&A
12:12 PM | 29-06-2020

How many leaves of tulsi can we take and what time is the right time?

The answers posted here are for educational purposes only. They cannot be considered as replacement for a medical 'advice’ or ‘prescription’. ...The question asked by users depict their general situation, illness, or symptoms, but do not contain enough facts to depict their complete medical background. Accordingly, the answers provide general guidance only. They are not to be interpreted as diagnosis of health issues or specific treatment recommendations. Any specific changes by users, in medication, food & lifestyle, must be done through a real-life personal consultation with a licensed health practitioner. The views expressed by the users here are their personal views and Wellcure claims no responsibility for them.

Read more
Post as Anonymous User
3 Answers

01:13 PM | 20-07-2020

Hello User,

Tulsi leaves at a time can be taken around 4-5. Tulsi is a medicinal herb with abundant benefits to it. To start with:

1. It raises immunity.

2. Fight bacterial reactions which are harmful to the body.

3. Excellent for respiratory problems as it helps in bringing down the inflammation. 

There is one more way where you can take tulsi leaves, boil one cup of water, one inch of ginger, one teaspoon of honey with 4-5 basil leaves. You can consume it during night time for a soothing sleep. 

Thank you



01:03 PM | 17-07-2020

नमस्कार 

तुलसी में ज्यादा प्रचलित पौधे है , हरी तुलसी (राम तुलसी) और गहरे रंग की श्याम तुलसी ।

सदियो से हम सभी घर घर मे आँगन में तुलसी के पौधे रखते आ रहे है । 

तुलसी के 3 से 4 पत्तो को इलाज के तौर पर हफ्ते में 2 से 3 बार ले सकते हैं ।

किन्तु तुलसी का पौधा अपने आँगन में ऑक्सीजन level बढ़ाता है । घर मे मच्छर आने से बचाता है । वातावरण में प्राण ऊर्जा बढ़ाता है ।

सुबह के समय तुलसी के पत्ते ज्यादा फायदेमंद है ।

अभी की ऋतु में तुलसी लेना अच्छा है ।

शर्दी , खांसी , जुखाम और सिरदर्द में तुलसी लाभदायक है ।

धन्यवाद । 



09:29 PM | 29-06-2020

हेलो,
कारण - तुलसी की तासीर गर्म होती हैै तो इसे गर्मियोंं में नहीं
 लेना चाहिए। प्राकृतिक चिकित्सासा पद्धति के अनुसार तुलसी दवााई है। दवाई  को जीवनशैली जीवन शैली नहीं बनाना चाहिए।
प्रतिदिन कुछ अगर कंज्यूम करना है तो वह हर्बल जूस होना चाहिए।एल्कलाइन वाटर के रूप में उसको पिया जा सकता है रोज सुबह खाली पेट।
समाधान- सुबह खीरा 1/2 भाग धनिया पत्ती (10 ग्राम) पीस लें, 100 ml पानी मिला कर पीएँ। यह juice आप कई प्रकार के ले सकते हैं। पेठे (ashguard ) का जूस लें और कुछ नहीं लेना है। नारियल पानी भी ले सकते हैं। पालक  पत्ते धो कर पीस कर 100ml पानी डाल पीएँ। दुब घास 25 ग्राम पीस कर छान कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। कच्चे सब्ज़ी का जूस प्रतिदिन का मुख्य भोजन है।

धन्यवाद।

रूबी, 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)



Scan QR code to download Wellcure App
Wellcure
'Come-In-Unity' Plan











Whoops, looks like something went wrong.