Loading...

Q&A
10:44 AM | 12-11-2020

Hi through your expert guidelines I solved my hyperthyroidism. Now menopause is going on. I am loosing my wt. It is 55. Ht. 5. 2. In 2018 November it was 64. Till that day I didn't regain from march onwards doing yoga for 1 hour and walk daily 40 min in morning and 30 min in evening. Hot flashes comes 10 to 15 times in a day Please help


The answers posted here are for educational purposes only. They cannot be considered as replacement for a medical 'advice’ or ‘prescription’. ...The question asked by users depict their general situation, illness, or symptoms, but do not contain enough facts to depict their complete medical background. Accordingly, the answers provide general guidance only. They are not to be interpreted as diagnosis of health issues or specific treatment recommendations. Any specific changes by users, in medication, food & lifestyle, must be done through a real-life personal consultation with a licensed health practitioner. The views expressed by the users here are their personal views and Wellcure claims no responsibility for them.

Read more
Post as Anonymous User
2 Answers

10:12 AM | 17-11-2020

Hello Taruna,

Menopause is the natural cessation, or stopping of a woman's menstrual cycle and marks the end of fertility. Mostly women experience this menopause by the age of 42. It is a phase in which the hormonal changes occur in the body of women. These hormonal changes lead to certain health changes like weight loss, excessive sweating, etc. And you also suffered from hyperthyroidism, so weight loss may also be the result of that. However, hormonal balances can be maintained by following a correct lifestyle and having a correct diet.

Diet

  • Start the day with 3 to 4 glasses of warm water on an empty stomach. This will help to flush out the toxins from the body. 
  • Have fresh, seasonal, and locally available fruits and vegetables in your diet. 
  • Include salads, sprouts, nuts, and beans in your diet. 
  • Have a light, easy to digest breakfast like a bowl of sprouts and soaked raisins and other dry fruits. 
  • Drink freshly prepared homemade fruit juices. 
  • Drink coconut water. 
  • Use cold-pressed oil in place of refined oils. 
  • Have whole grains like barley, millets, oats, etc.

Exercise 

Regular exercise is also important for improved blood circulation and metabolism.

  • Take a brisk morning walk of at least 30min. 
  • Do 12 sets of suryanamaskar. 
  • Perform tada asana, trikona asana, vriksha asana, etc.
  • Do pranayam regularly for 15-20min, specially anulom-vilom and kapalbhati pranayam. 
  • Take sunrays early in the morning. 

Sleep

Sleep is equally as important as our diet. It affects the circadian rhythm and in turn the hormonal balance. So, take proper sleep of at least 7-8 hours daily. Sleep early at night and also wake up early in the morning. Read books before sleeping to improve the quality of sleep. 

Thank you 

12:47 PM | 17-11-2020

Thanks Nikita I will definitely follow your and ruby instructions .and overcome from the issue. Thanks to wellcure team
. Your team is really working very hard to help us.thanks from bottom of my heart

Reply


11:28 AM | 16-11-2020

हेलो,
कारण - हॉट फ्लैशेज हार्मोन के असंतुलन से जुड़ी एक समस्या है जो आमतौर पर महिलाओं को मेनोपॉज के बाद होती है। इसके कारण शरीर में अचानक से तेज गर्मी महसूस होने लगती है और चेहरा लाल हो जाता है। यह समस्या एंडोक्राइन हार्मोन के असंतुलन और एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर बढ़ जाने से होती है।


समाधान - 1. शरीर की आंतरिक और बाह्य सफाई बहुत जरूरी है। आंतरिक सफाई के लिए किसी प्राकृतिक चिकित्सक के देख रेख में टोना लें। जिससे आँत की प्रदाह को शांत किया जा सके। एनिमा किट मँगा लें। यह किट ऑनलाइन मिल जाएगा। इससे 200ml पानी गुदाद्वार से अंदर डालें और प्रेशर आने पर मल त्याग करें। ऐसा दिन में दो बार करना है अगले 21 दिनों के लिए। ये करना है ताकि शरीर में मोजुद विषाणु निष्कासित हो जाये। इसके बाद हफ़्ते में केवल एक बार लेना है उपवास के अगले दिन। टोना का फ़ायदा तभी होगा जब आहार शुद्धि करेंगे।

जीवन शैली- 1. सुबह खाली पेट हर्बल जूस लें। बेल पत्र 3 पीस कर 200 ml पानी मिला कर छान कर मुंह में रख रख कर पिएं।

2. सूर्य के रोशनी शरीर में लेट कर लगाएं। सिर और आंख को सूती कपड़ा से ढक लें। ऐसा 20 मिनट करें। सूर्य उदय के एक घंटे बाद का धूप या सूर्य अस्त के एक घंटे 1 का धूप बहुत अच्छा होता मगर धूप यदि सिर और आंख को ढक कर लें तो किसी भी वक़्त धूप ले सकते हैं।

3. हर 3 घंटे में लंबा गहरा श्वास अंदर लें उसको थोड़ी देर रोकें और फिर सांस को खाली करें। खाली करने के बाद फिर से रुके और फिर लंबा गहरा सांस ले। यह एक चक्र है ऐसा दिन में 10 चक्र करें केवल एक शर्त का पालन करें जब आप लंबा गहरा सांस ले रहे हैं तो अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें ऐसा करने से आपके शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा का बढ़ेगी और ऑक्सीजन का संचार सुचारू रूप से हो पाएगा।

4. नाश्ते में केवल मौसम के फल केवल एक प्रकार के लें।

 दोपहर में सलाद बिना नमक नीबू के लें।

सलाद को अकेले पूर्ण खुराक के रूप में लें। उसके साथ या बाद में पका हुए भोजन को ग्रहण ना करें। सलाद का पाचन समय 5 घंटा है तो पांच घंटे के बाद रात का भोजन लें।

रात के भोजन में 70% सब्जी डालें और 30% अनाज या millet लें। पका हुआ भोजन 35 साल से ऊपर के सभी व्यक्ति को दिन में केवल एक बार पका हुआ भोजन का सेवन करना चाहिए। यदि स्वास्थ में किसी प्रकार का कमी हो तो एक वक़्त का पका हुआ भोजन भी नहीं लेना उत्तम होता है। नारियल पानी भी ले सकते हैं। पालक  पत्ते धो कर पीस कर 100ml पानी डाल पीएँ। दुब घास 25 ग्राम पीस कर छान कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। कच्चे सब्ज़ी का जूस आपका मुख्य भोजन है। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है। 

फल को चबा कर खाएँ। इसका juice ना लें। फल सूखे फल नाश्ते में लें।

दोपहर के खाने में सलाद नट्स और अंकुरित अनाज के साथ  सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें और नारियल पीस कर मिलाएँ। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल ( yellow pumpkin)50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ashgurd) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें।कद्दूकस करके डालें।कभी काजू बादाम अखरोट मूँगफली भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। 

लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। लें। बिना नींबू और नमक के लें। स्वाद के लिए नारियल और herbs मिलाएँ।

रात के खाने में इस अनुपात से खाना खाएँ 2 कटोरी सब्ज़ी के साथ 1कटोरी चावल या 1रोटी ले।

 ये जीवन शैली में अनिवार्य रूप से उतारने से स्वास्थ उत्तम होता है।

5. पानी को या जूस को मुंह में घूंट भर कर रखे फिर घूंट को अंदर लें इससे आपका मुंह का लार जूस में मिल कर सुपाच्य प्रोटीन का निर्माण करता है जो कि शरीर की जरूरत है।

फल या सलाद को खूब चबा कर खाएं। ऐसा करने से शरीर 

को इन के पोषक तत्व ठीक प्रकार से मिल पाते हैं। फल और सलाद ठीक प्रकार से चबाने से हमारा लार उसके साथ मिलकर के कई विटामिन और कई मिनरल्स खुद से क्रिएट करता है जो कि हमारे शरीर का अहम घटक है।

6. हफ्ते में एक दिन उपवास करने से शरीर को मौका मिल जाता है स्वता ही पूरे शरीर की आंतरिक सफाई का जो कि शरीर को स्वस्थ रखने के लिए अहम भूमिका निभाता है।

उपवास का मतलब यह है कि आपका 2 बार का भोजन ना लें जैसे सुबह का नाश्ता दोपहर का खाना ना लेकर सीधा शाम को ले या हो सके तो पूरे दिन का उपवास रखें शाम को भी कुछ ना ले। प्यास लगने पर पानी घूंट भर कर रखें फिर अंदर गट करें।  पानी पेट भरने के लिए ना पीएं केवल प्यास बुझाने के लिए,  मुंह में घूंट भरते ही दो से तीन घूंट आपके प्यास को बुझा देगा।

धन्यवाद।

रूबी, 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)


Scan QR code to download Wellcure App
Wellcure
'Come-In-Unity' Plan











Whoops, looks like something went wrong.