Loading...

Q&A
10:11 AM | 14-07-2020

I want to regain my lost hair. Please suggest.


The answers posted here are for educational purposes only. They cannot be considered as replacement for a medical 'advice’ or ‘prescription’. ...The question asked by users depict their general situation, illness, or symptoms, but do not contain enough facts to depict their complete medical background. Accordingly, the answers provide general guidance only. They are not to be interpreted as diagnosis of health issues or specific treatment recommendations. Any specific changes by users, in medication, food & lifestyle, must be done through a real-life personal consultation with a licensed health practitioner. The views expressed by the users here are their personal views and Wellcure claims no responsibility for them.

Read more
Post as Anonymous User
3 Answers

12:55 PM | 14-07-2020

Hello Chetan, 

The main cause when we deal with hair loss is when we get exposed to pollution and chemical products. Yes, our digestion and bad eating habits are also part of the same as the hair is made of nutrients itself. The main thing to take care of, diet is to increase our protein intake. Our body has the power to regenerate only if we provide our body with the right type of nutrients, by following a natural lifestyle you not only correct the hair fall problem but also treat yourself well with correct nutrients.

Hair is made out of protein named keratin, by eating the right kind of food items, we can increase the protein intake and deal with the same. Hair and nails are made up of some type of protein, so you can also co-relate when your hair is in bad shape even your nails become brittle. So here are a few things which need to be corrected. So let us focus on what lifestyle changes we can make:

Eat:

  • Eating food that has a high amount of proteins are legumes, green leafy vegetables, nuts like almonds, walnuts, etc.
  • Seeds like chia, pumpkin, and flax seeds are also necessary.
  • Coconut water and even eating shredded coconut is found to be very beneficial for hair health.

Regular massaging of hair is important to take care of the pigmentation. Here are a few hair packs which you can try to deal with hair loss problems.

1. Methi seeds, methi seeds powder two tablespoons mixed with rose water it helps in getting the hair stronger and thicker and help from hair to roots. Before applying methi seeds pack make sure you apply the oil at night, so the pack does not stick to hair.

2. Onion juice paste is another beneficial thing for hair health. This will ensure to deal with the hair fall.

3. There is one more way of coconut oil massage, where you warm the coconut oil and add curry leaves to it, let it splutter and then use for massage.

Exercise:

Here is some exercise that you can start for your hair and scalp health.

  • Rubbing your nails with each other helps in the treatment of the hair health as it boosts the blood circulation to the scalp, hair, and nails have the same type of protein involved.
  • Chakrasana is another asana which would be recommended for healthy hair.

Meditation:

While massaging your hair what you can do is close your eyes, and visualize your hair becoming stronger and shinier making it healthy. You can take a deep breath, start healthy music in the background you can feel the blood circulation getting a boost. This will help in relaxation and ensuring healthy hair health.

Sleep:

Having a sound 7-8 hours of sleep is helpful in treating anybody's problem, a healthy sleep leads to a healthy mind and body. So make sure you are free your room from any gadgets an hour before sleep so you get a radiation-free room and a good tension-free sound sleep.

Hopefully, this will help you

Thank you



01:35 PM | 14-07-2020

Namaskar!

We do understand that it must be very challenging for you to deal with the hair loss issue. It's great that you are willing to explore a natural way of dealing with the same. 

Please understand that the state of your hair reflects your overall health too. Our hair gets its nutrition from within. There are living cells in the hair bulb which get their nourishment from the blood to make good healthy hair. Taking care of the body’s needs – physiological, mental, and emotional needs with the correct lifestyle results in the superior quality of blood which feeds the cells of the hair. When the quality of blood supplying the nutrition is good, the quality and color of hair are good too.

Hair growth and regeneration happen naturally in a cycle - there is a period of growth, a resting phase and then release of hair from the hair follicle which we experience as shedding of hair every day. Problems with hair are experienced when this cycle is disrupted. Adopting a natural lifestyle helps improve the quality of blood and increase nutrition available to the hair follicles, which in turn helps arrest and reverse issues like hair fall and premature graying. 

Also, we would like to draw your attention to the fact that as per Nature Cure, our body works as one unit and different health issues cannot be seen in isolation. The root cause of most diseases is toxins, that get accumulated over a period of time due to wrong lifestyle choices. Adopting a natural lifestyle can definitely help us get rid of toxins and hence heal from within. You may consult a Nature Cure expert through our Nature-Nurtures Program who can help your wife in making the transition to a natural lifestyle, step by step. 

In the meantime, do read this Body Wisdom blog - Healthy Hair - Nourish your crowning glory

Also visit our Journeys section to get inspired by natural healing stories of real-life common people. We hope you get inspired to take charge of your health & take the next step.

Regards
Team Wellcure



12:54 PM | 14-07-2020

हेलो,
कारण -  बालों का  झड़ना संकेत है।
ऑक्सीजन और रक्त का संचार ठीक प्रकार से नहीं हो पा रहा है। रक्त और ऑक्सीजन के संचार में कमी होने का मुख्य कारण पाचन तंत्र में अम्ल का बढ़ना है। जैसे वायुमंडल में हवा दूषित होने पर ऑक्सीजन की मात्रा कम हो जाती है उसी तरीके से शरीर में अम्ल की मात्रा बढ़ने से ऑक्सीजन और रक्त की संचार में कमी आती है।

प्राकृतिक जीवन शैली को अपनाकर इसे पूर्ण रूप से ठीक किया जा सकता है इसको ठीक होने में 8 से 10 महीने का समय लग सकता है।

समाधान- 1. सर पर जब इस तरीके की समस्या देखी जाती है तो हमारी सलाह होती है कि सर पर सूती कपड़ा बाँध कर उसके ऊपर खीरा और मेहंदी या करी पत्ते का पेस्ट लगाएँ, नाभि पर खीरा का पेस्ट लगाएँ। पैरों को 20 मिनट के लिए सादे पानी से भरे किसी बाल्टी या टब में डूबो कर रखें। गुड़हल के फूल यानी hibiscus के फूल और पत्तों का पेस्ट अपने सर पर सूती कपड़ा बांधकर लगाएं, 20 मिनट तक उसको रहने दे, फिर बालों को सादे पानी से धो लें ऐसा करने से बाल साफ हो जाएगा शैंपू की आवश्यकता नहीं होगी। यह बहुत ही अच्छा मॉइश्चराइजर होता है यह बालों का हर प्रकार का स्वास्थ्य का ख्याल रखता है। बालों में शैंपू और साबुन का प्रयोग ना करें, ना ही किसी प्रकार का तेल का यूज करें।

2. खानपान में मुख्य रूप से गहरे हरे रंग के पत्तों का जूस बहुत ही फायदेमंद होता है। गहरे हरे रंग के पत्तों में क्लोरोफिल होता है और ऑक्सीजन की संचार में यह बहुत ही मददगार साबित होता है।

3. नमक की मात्रा कम ले दिन में एक बार ले और सेंधा नमक या काला नमक ही लें क्योंकि नमक ज्यादा रहने से भी सिर में  फ्लूइड में कमी आती है।  सिर में liquid रहता है नमक में सोडियम होता जो कि liquid को सोख लेता है।

4. मेरुदंड स्नान काफी लाभकारी होता है यह हमारे स्नायु तंत्र को स्वस्थ रखता है । एक मोटा तोलिया लेकर उसको भिगो दें बिना निचोड़े योगा मैट पर बिछाए और उसके ऊपर कमर से लेकर के कंधे तक का हिस्सा रखें। उस गीले तौलिए पर रहे 20 मिनट के बाद इसको हटा दें। ऐसा करने से आप का मेरुदंड में ब्लड और ऑक्सीजन का सरकुलेशन ठीक हो जाएगा। जो कि हमारे सिर के नसों से कनेक्टेड रहता है।

5. लंबा गहरा श्वास अंदर लें रुको थोड़ी देर सांस को पूरी तरीके से खाली करें और फिर रुके थोड़ी देर ऐसा करने से आपके शरीर में ऑक्सीजन का सरकुलेशन ठीक हो जाएगा ऑक्सीजन की मात्रा ठीक हो जाएगी।

सूर्य नमस्कार 10 बार करें सूर्य नमस्कार बहुत ही उपयोगी है हमारे सिर के हिस्से में रक्त संचार के लिए।

पवनमुक्तासन अम्ल को कम करेगा शरीर में अम्ल के कम होने से सिर में ऑक्सीजन और रक्त का संचार होगा।

जीवन शैली - 1. आकाश तत्व - एक खाने से दुसरे खाने के बीच में अंतराल (gap) रखें।

फल के बाद 3 घंटे, सलाद के बाद 5 घंटे, और पके हुए खाने के बाद 12 घंटे का (gap) रखें।

2.वायु तत्व - प्राणायाम करें, आसन करें। दौड़ लगाएँ।

3.अग्नि - सूर्य की रोशनी लें।

4.जल - अलग अलग तरीक़े का स्नान करें। मेरुदंड स्नान, हिप बाथ, गीले कपड़े की पट्टी से पेट की गले और सर की 20 मिनट के लिए सेक लगाए। 

स्पर्श थरेपी करें। मालिश के ज़रिए भी कर सकते है।

कपूर मिश्रित नारियल तेल से पैरों के तलवे पर घड़ी की सीधी दिशा (clockwise) में और घड़ी की उलटी दिशा (anti clockwise) में मालिश करें। नरम हाथों से बिल्कुल भी प्रेशर नहीं दें।

5.पृथ्वी - सुबह खीरा 1/2 भाग, धनिया पत्ती (10 ग्राम) पीस लें, 100 ml पानी मिला कर पीएँ। यह juice आप कई प्रकार के ले सकते हैं। पेठे (ash guard ) का जूस लें और कुछ नहीं लेना है। नारियल पानी भी ले सकते हैं। पालक  पत्ते धो कर पीस कर 100 ml पानी डाल पीएँ। दुब घास 25 ग्राम पीस कर छान कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। कच्चे सब्ज़ी का जूस आपका मुख्य भोजन है। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है। फल को चबा कर खाएँ। इसका juice ना लें। फल सूखे फल नाश्ते में लें।

दोपहर के खाने में सलाद नट्स और अंकुरित अनाज के साथ  सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें और नारियल पीस कर मिलाएँ। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल (yellow pumpkin) 50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ash guard) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें। कद्दूकस करके डालें। कभी काजू बादाम, अखरोट, मूँगफली, भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। लें। बिना नींबू और नमक के लें। स्वाद के लिए नारियल और herbs मिलाएँ।

रात के खाने में इस अनुपात से खाना खाएँ 2 कटोरी सब्ज़ी के साथ 1कटोरी चावल या 1रोटी लेएक बार पका हुआ खाना रात को 7 बजे से पहले लें।

7.एक नियम हमेशा याद रखें ठोस (solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल  को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें।ठोस  भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ ले सकते हैं।

हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 7 बजे सलाद लें।

8. उपवास के अगले दिन किसी प्राकृतिक चिकित्सक के देख रेख में टोना लें। जिससे आँत की प्रदाह को शांत किया जा सके। एनिमा किट मँगा लें। यह किट ऑनलाइन मिल जाएगा। इससे 200 ml पानी गुदाद्वार से अंदर डालें और प्रेशर आने पर मल त्याग करें। ऐसा दिन में दो बार करना है अगले 21 दिनों के लिए। ये करना है ताकि शरीर में मोजुद विषाणु निष्कासित हो जाये। इसके बाद हफ़्ते में केवल एक बार लेना है उपवास के अगले दिन। टोना का फ़ायदा तभी होगा जब आहार शुद्धि करेंगे।

धन्यवाद।

रूबी, 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)


Scan QR code to download Wellcure App
Wellcure
'Come-In-Unity' Plan











Whoops, looks like something went wrong.