Loading...

Q&A
11:13 AM | 28-12-2020

I'm getting pimples & black spots on forehead. I also have dandruff and my hair is thin. How to cure? Would you recommend any routine suggestion


The answers posted here are for educational purposes only. They cannot be considered as replacement for a medical 'advice’ or ‘prescription’. ...The question asked by users depict their general situation, illness, or symptoms, but do not contain enough facts to depict their complete medical background. Accordingly, the answers provide general guidance only. They are not to be interpreted as diagnosis of health issues or specific treatment recommendations. Any specific changes by users, in medication, food & lifestyle, must be done through a real-life personal consultation with a licensed health practitioner. The views expressed by the users here are their personal views and Wellcure claims no responsibility for them.

Read more
Post as Anonymous User
3 Answers

09:14 AM | 29-12-2020

Hello Jayasuriya,

Internal health of the body is essential for a good external health. A glowing, clear skin and healthy hairs indicate that the body is healthy internally whereas skin problems and hair problems indicate that the toxins are accumulated inside the body. 
A changed correct lifestyle and correct eating habits to maintain the hormonal balances and circadian rhythm is extremely important to be healthy. 

Food

  • Include natural plant-based foods in your diet. 
  • Drink sufficient water during the day. 
  • Have fresh fruit juices and coconut water. 
  • Include salads, sprouts, fresh fruits, and green leafy vegetables in your meals.
  • Have whole grains like barley, millets, oats. 
  • Include nuts, beans, cucumber in your diet.
  • Always consume freshly prepared foods. 
  • Use coconut oil for cooking instead of using refined oils.
  • Say no to coffee and tea.
  • Avoid maida.

Sleep

Having good quality sleep for sufficient number of hours is very important.

Go to bed early at night, especially before 11 pm.

Get up early in the morning at around 6.

Take a good quality sleep for at least 8 hours daily.

Physical activity 

Sometimes not doing any physical activity during the day also leads to disturbed metabolism and hence accumulation of toxins. 

  • Start your day with some physical activity like walking or jogging. 
  • Perform yoga regularly. 
  • You can do bhujanga asana,gomukha asana,kapalbhati, trikona asana, paschimottan asana. 
  • Take 15min walk after your meals.

Meditation 

Give yourself some time to meditate also. Meditation helps in treating almost every disease. 

Meditate for at least 20-25 min daily in the morning.

Stress-free 

Stress also leads to various health issues. So, try to avoid stressful situations and be stress-free.

Habits

  • Never skip meals.
  • Maintain proper hygiene. 
  • Have your meals at fixed times.
  • Avoid late-night eating. 

Thank you 



10:25 AM | 29-12-2020

Dear Jaisuriya,

Thanks for sharing your query with us! Acne, pimples, dark spots are common skin problem faced by boys and girls, especially during the teenage years. Let us look at it from Nature Cure point of view - our body is designed to stay in a state of health and diseases/symptoms/discomfort are often an attempt to restore any imbalance inside the body. The imbalance is caused because of toxins - which are an output of metabolism and are also added due to unnatural lifestyle choices. Nature has equipped us with the measures of eliminating the toxins on a regular basis - through breathing, stool, urine, sweat, mucus depositions in nose, eyes and genitals etc. Acne is also one such mechanism to get rid of toxins. At this stage, we need to support the body to get rid of toxins instead of suppressing symptoms by restoring to quick-fixes like medicines etc.

Also, our hair gets its nutrition from within. There are living cells in the hair bulb which get their nourishment from the blood to make good healthy hair. Taking care of the body’s needs – physiological, mental and emotional needs with the correct lifestyle results in the superior quality of blood which feeds the cells of the hair. When the quality of blood supplying the nutrition is good, the quality of hair and scalp is good too. Dandruff is an indication that there is an imbalance in the amount of nourishment that the scalp is getting. 

We would thereby recommend you to align your lifestyle choices to the laws of nature and see your body heal itself. You can explore our Natural Health Coaching Program that helps you in making the transition, step by step. Our Natural Health Coach will look into your daily routine in a comprehensive way and give you an action plan. She / he will guide you on diet, sleep, exercise, stress to correct your existing routine & make it in line with Natural Laws.

You also enrol yourself for Wellcure's upcoming Natural Beauty Program - hair & skincare by Natural Beauty & Wellness Coach Sunmeet Taluja Marwah. Find details here - https://elearning.wellcure.com/Natural-Beauty-Care-Workshop

In the meantime, you may explore these resources:

  1. Blogs

  2. Real-life natural healing stories of people who cured Skin Issues just by following Natural Laws.

All the best!

Team Wellcure



09:13 AM | 29-12-2020

हेलो,
कारण -  मुहांसे मूल रूप से तेल ग्रंथियों (oil glands) से संबंधित एक विकार है। ये तेल ग्रंथियां त्वचा के नीचे मौजूद हैं। स्किन के रोम छिद्र या पोर्स अंदर से तेल ग्रंथी वाली कोशिकाओं (सेल्स) से जुड़े हुए होते हैं जिनके कारण सीबम ऑयल स्किन के रोम छिद्र में उत्पन्न होता है। सीबम खराब सेल्स को रोम छिद्र से बाहर लाने मे मदद करता है और नये सेल्स बनाता रहता है। परंतु हार्मोन असंतुलन के कारण जब ज़्यादा सीबम तेल बनने लगता है, तब यह तेल इन रोम छिद्रों को बंद कर देता है जिसके कारण मुहांसे या दाने होते हैं। सीबम में बैक्टीरिया का विकास भी रोम छिद्रों को बंद कर मुहांसे को जन्म देता है। खराब हाजमा इसका मुलकरण है। प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति को अपनाकर आप पूर्ण रूप से स्वास्थ्य पा सकते हैं।

समाधान- 1. जितना हो सके कच्चे हरे पत्तों का जूस छानकर पिए। जैसे पालक, दूब घास, बेलपत्र, धनिया पत्ता, तुलसी का पत्ता इन्हें अलग-अलग टाइम पर पीसकर 200ml पानी मिलाकर छानकर पीएं खाली पेट इन पत्तों का जूस बहुत ही ज्यादा लाभदायक होता है। यह रक्त को शुद्ध करेगा। आंतों के संक्रमण को दूर करेगा

 2. 20 मिनट सूर्य की रोशनी में अपने शरीर को रखें सिर और आंख को किसी सूती कपड़े से ढक करके 5 मिनट बैक, 5 मिनट फ्रंट, 5 मिनट लेफ्ट, 5 मिनट राइट साइड धूप लगाए। धूप लेट कर लगाने से ज्यादा फायदा करता है। ऐसा करने से शरीर में पल रहे विषाणु मूर्छित हो जाएंगे।

 3. पेट के ऊपर एक गीला कपड़ा लपेट कर रखें, 20 मिनट तक उसको लपेटे रखें इससे आंत को ठंडक पहुंचेगी और विषाक्त कणों को निष्कासन में मदद मिलेगा।

4. हर 3 घंटे में लंबा गहरा श्वास अंदर लें। उसको थोड़ी देर रोकें और फिर सांस को खाली करें। खाली करने के बाद फिर से रुके और फिर लंबा गहरा सांस ले। यह एक चक्र है ऐसा दिन में 10 चक्र करें केवल एक शर्त का पालन करें जब आप लंबा गहरा सांस ले रहे हैं तो अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें ऐसा करने से आपके शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा का बढ़ेगी और ऑक्सीजन का संचार सुचारू रूप से हो पाएगा।

5. खीरे और नीम के पत्तों के पेस्ट को 20 मिनट के लिए जंहा मुहांसे हैं वहां लगाकर छोड़ दें ।

जीवन शैली - 1. आकाश तत्व - एक खाने से दुसरे खाने के बीच में अंतराल (gap) रखें।

फल के बाद 3 घंटे, सलाद के बाद 5 घंटे, और पके हुए खाने के बाद 12 घंटे का (gap) रखें।

2.वायु तत्व - प्राणायाम करें, आसन करें। दौड़ लगाएँ।

3.अग्नि - सूर्य की रोशनी लें।

4.जल - अलग अलग तरीक़े का स्नान करें। मेरुदंड स्नान, हिप बाथ, गीले कपड़े की पट्टी से पेट की गले और सर की 20 मिनट के लिए सेक लगाए। 

स्पर्श थरेपी करें। मालिश के ज़रिए भी कर सकते है। तिल के तेल रीढ़ की हड्डी पर घड़ी की सीधी दिशा (clockwise) में और घड़ी की उलटी दिशा (anti clockwise) में मालिश करें। नरम हाथों से बिल्कुल भी प्रेशर नहीं दें।

5.पृथ्वी - सुबह खीरा 1/2 भाग धनिया पत्ती (10 ग्राम) पीस लें, 100 ml पानी मिला कर पीएँ। यह juice आप कई प्रकार के ले सकते हैं। पेठे  (ashgourd ) का जूस लें और कुछ नहीं लेना है। नारियल पानी भी ले सकते हैं। पालक  पत्ते धो कर पीस कर 100ml पानी डाल पीएँ। दुब घास 25 ग्राम पीस कर छान कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। कच्चे सब्ज़ी का जूस आपका मुख्य भोजन है। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है। 

फल को चबा कर खाएँ। इसका juice ना लें। फल सूखे फल नाश्ते में लें।

दोपहर के खाने में सलाद नट्स और अंकुरित अनाज के साथ  सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें और नारियल पीस कर मिलाएँ। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल (yellow pumpkin) 50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ashgourd) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें।कद्दूकस करके डालें।कभी काजू बादाम अखरोट मूँगफली भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। 

लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। लें। बिना नींबू और नमक के लें। स्वाद के लिए नारियल और herbs मिलाएँ।

रात के खाने में इस अनुपात से खाना खाएँ 2 कटोरी सब्ज़ी के साथ 1कटोरी चावल या 1रोटी लेएक बार पका हुआ खाना रात को 7 बजे से पहले लें।

6. एक नियम हमेशा याद रखें ठोस (solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल  को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें।ठोस  भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ ले सकते हैं।

हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 8 बजे सलाद लें।

7. उपवास के अगले दिन किसी प्राकृतिक चिकित्सक के देख रेख में टोना लें। जिससे आँत की प्रदाह को शांत किया जा सके। एनिमा किट मँगा लें। यह किट ऑनलाइन मिल जाएगा। इससे 200ml पानी गुदाद्वार से अंदर डालें और प्रेशर आने पर मल त्याग करें। ऐसा दिन में दो बार करना है अगले 21 दिनों के लिए। ये करना है ताकि शरीर में मोजुद विषाणु निष्कासित हो जाये। इसके बाद हफ़्ते में केवल एक बार लेना है उपवास के अगले दिन। टोना का फ़ायदा तभी होगा जब आहार शुद्धि करेंगे।

धन्यवाद।

रूबी, 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)


Scan QR code to download Wellcure App
Wellcure
'Come-In-Unity' Plan











Whoops, looks like something went wrong.