Q&A
11:21 AM | 15-10-2020

Hey I'm Ahona. I'm a 14 year old girl. My current height is 5 feet 5 inches and my current weight is 80 kgs. Actually since three months I'm not having my periods. So I went to a gynecologist who gave some tests to do. In the test results I got high blood pressure, diabetes, enlarged liver and grade 2 fatty liver. So can you Please tell me the diet which I should go through and some exercises which will be helpful in losing my weight? Also please tell me that can these things be solver?


The answers posted here are for educational purposes only. They cannot be considered as replacement for a medical 'advice’ or ‘prescription’. ...The question asked by users depict their general situation, illness, or symptoms, but do not contain enough facts to depict their complete medical background. Accordingly, the answers provide general guidance only. They are not to be interpreted as diagnosis of health issues or specific treatment recommendations. Any specific changes by users, in medication, food & lifestyle, must be done through a real-life personal consultation with a licensed health practitioner. The views expressed by the users here are their personal views and Wellcure claims no responsibility for them.

Read more
Post as Anonymous User
3 Answers

10:41 AM | 16-10-2020

Hello Ahona,

You are just 14 years old and at this young age, suffering from diabetes, high blood pressure, fatty liver is not a good sign for the health. All these disorders are a result of long term improper lifestyle and wrong eating habits. But it can be cured by following a correct lifestyle and eating habits along with yoga and pranayam. In diabetes, our body is not able to break the sugar or use the sugar in a proper way. But, by making some changes in lifestyle and habits, it can be cured naturally. A change in lifestyle and eating habits is needed for a healthy body. 

Reasons for diabetes 

  • Sedentary lifestyle 
  • Family history 
  • Wrong eating habits. 
  • Hormonal imbalance 
  • Obesity

Diet-

  • Have only plant-based natural foods. 
  • Include sprouts, salads, beans, nuts, dry fruits in your diet. 
  • Have coconut water and fresh homemade fruit juices. 
  • Avoid dairy foods and also avoid animal products. 
  • Cook oil-free or use cold-pressed oil. 
  • Avoid tea and coffee. 
  • Include whole grains like barley, millets, oats in your diet. 
  • Avoid sugars, chocolates, carbonated drinks. 

Exercise 

Doing some physical activity is very important to cure diabetes. 

  • Walk around 2,500 steps in the morning and the same in the evening. According to WHO, we should walk 8000 steps daily. Daily work may contribute to around 3000 steps and to complete them to 8000, walk 2,500 steps in the morning and evening. 
  • Perform yoga specially bhujanga asana, gomukha asana, trikona asana. 
  • Perform pranayam like kapalbhati, anulom-vilom. 

Sleep

Sleep always plays a vital role in the overall health of the body and mind.

Take proper sleep of at least 7-8hours daily. 

Sleep early at night and also wake up early in the morning at around 6 am

. Read books before sleeping to improve the quality of sleep. 

Thank you 



12:33 PM | 19-10-2020

हेलो, 
कारण - मासिक धर्म का बंद होने का कारण हार्मोन का संतुलन बिगड़ जाना है। असंयमित वजन का बढ़ना, उच्च रक्तचाप की शिकायत, फैटी लीवर का होना, शुगर हो जाना यह तमाम प्रतिक्रिया है खराब हाजमा की निशानी है। सभी बीमारियों का शुरुआत पाचन तंत्र केे अस्वस्थ होनेेेे से ही होता है। प्राकृतिक जीवन शैली के अनुसार पाचन तंत्र को स्वस्थ करकेे पूर्ण स्वास्थ्य लाभ उठाया जा सकता है।

समाधान - 1. प्रतिदिन हिप बाथ लें। नाभि तक पानी कर उस टब में बैठ कर के संकुचन क्रिया करें। रात को सोने से पहले पैरों को 20 मिनट के लिए गुने गुने पानी से भरे किसी बाल्टी या टब में डूबो कर रखें। 

2. खानपान में मुख्य रूप से गहरे हरे रंग के पत्तों का जूस बहुत ही फायदेमंद होता है। गहरे हरे रंग के पत्तों में क्लोरोफिल होता है और ऑक्सीजन की संचार में यह बहुत ही मददगार साबित होता है।

3.  मेरुदंड स्नान काफी लाभकारी होता है यह हमारे स्नायु तंत्र को स्वस्थ रखता है । एक मोटा तोलिया लेकर उसको भिगो दें बिना निचोड़े योगा मैट पर बिछाए और उसके ऊपर कमर से लेकर के कंधे तक का हिस्सा रखें। उस गीले तौलिए पर रहे 20 मिनट के बाद इसको हटा दें। ऐसा करने से आप का मेरुदंड में ब्लड और ऑक्सीजन का सरकुलेशन ठीक हो जाएगा। जो कि हमारे सिर के नसों से कनेक्टेड रहता है।

4. लंबा गहरा श्वास अंदर लें रुको थोड़ी देर सांस को पूरी तरीके से खाली करें और फिर रुके थोड़ी देर ऐसा करने से आपके शरीर में ऑक्सीजन का सरकुलेशन ठीक हो जाएगा ऑक्सीजन की मात्रा ठीक हो जाएगी। प्रतिदिन दौड़ लगाना बहुत आवश्यक है।

सूर्य नमस्कार 10 बार करें सूर्य नमस्कार बहुत ही उपयोगी है हमारे सिर के हिस्से में रक्त संचार के लिए।

पवनमुक्तासन अम्ल को कम करेगा शरीर में अम्ल के कम होने से सिर में ऑक्सीजन और रक्त का संचार होगा।

5.पृथ्वी - सुबह खीरा 1/2 भाग धनिया पत्ती (10 ग्राम) पीस लें, 100 ml पानी मिला कर पीएँ। यह juice आप कई प्रकार के ले सकते हैं। पेठे (ashguard ) का जूस लें और कुछ नहीं लेना है। नारियल पानी भी ले सकते हैं। पालक  पत्ते धो कर पीस कर 100ml पानी डाल पीएँ। दुब घास 25 ग्राम पीस कर छान कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। कच्चे सब्ज़ी का जूस आपका मुख्य भोजन है। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है। 

फल को चबा कर खाएँ। इसका juice ना लें। फल सूखे फल नाश्ते में लें।

दोपहर के खाने में सलाद नट्स और अंकुरित अनाज के साथ  सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें और नारियल पीस कर मिलाएँ। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल ( yellow pumpkin)50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ashgurd) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें।कद्दूकस करके डालें।कभी काजू बादाम अखरोट मूँगफली भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। 

लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। लें। बिना नींबू और नमक के लें। स्वाद के लिए नारियल और herbs मिलाएँ।

रात के खाने में इस अनुपात से खाना खाएँ 2 कटोरी सब्ज़ी के साथ 1कटोरी चावल या 1रोटी लेएक बार पका हुआ खाना रात को 7 बजे से पहले लें।

6.एक नियम हमेशा याद रखें ठोस(solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल  को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें।ठोस  भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ ले सकते हैं।

हफ़्ते में एक दिन उपवास करें। शाम तक केवल पानी लें, प्यास लगे तो ही पीएँ। शाम 5 बजे नारियल पानी और रात 7 बजे सलाद लें।

7. उपवास के अगले दिन किसी प्राकृतिक चिकित्सक के देख रेख में टोना लें। जिससे आँत की प्रदाह को शांत किया जा सके। एनिमा किट मँगा लें। यह किट ऑनलाइन मिल जाएगा। इससे 200ml पानी गुदाद्वार से अंदर डालें और प्रेशर आने पर मल त्याग करें। ऐसा दिन में दो बार करना है अगले 21 दिनों के लिए। ये करना है ताकि शरीर में मोजुद विषाणु निष्कासित हो जाये। इसके बाद हफ़्ते में केवल एक बार लेना है उपवास के अगले दिन। टोना का फ़ायदा तभी होगा जब आहार शुद्धि करेंगे।

धन्यवाद।

रूबी, 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)



10:55 AM | 16-10-2020

Dear Ahona,

Thanks for sharing your concern with us!

Please know that as per nature cure, toxic overload is the root cause of all diseases. Toxins are a byproduct of metabolism and also get added due to wrong lifestyle choices. Nature has equipped us with the measures of eliminating the toxins on a regular basis - through breathing, stool, urine, sweat, mucus depositions in nose, eyes and genitals etc. However, when there is insufficient or faulty elimination, there is a toxic overload in the body. Toxic overload often leads to various health issues like hormonal imbalance, BP, diabetes, fatty liver etc. As per nature cure, one can reverse this state of imbalance by getting back in sync with the natural laws of living. 

Adopting a natural lifestyle will help you in reclaiming your health. You can explore our Natural Health Coaching Program that helps you in making the transition, step by step. We will guide you on diet, sleep, exercise, stress etc. to correct your existing routine & make it in line with Natural Laws. As you are very young, it is imperative to take corrective action now for a healthy life. We suggest you enrol yourself for this program. 

All the best!

Team Wellcure


Scan QR code to download Wellcure App
Wellcure
'Come-In-Unity' Plan