Q&A
10:19 AM | 02-08-2019

I am 55 yr old. I have acute acidity problem. Please suggest home remedies


The answers posted here are for educational purposes only. They cannot be considered as replacement for a medical 'advice’ or ‘prescription’. ...The question asked by users depict their general situation, illness, or symptoms, but do not contain enough facts to depict their complete medical background. Accordingly, the answers provide general guidance only. They are not to be interpreted as diagnosis of health issues or specific treatment recommendations. Any specific changes by users, in medication, food & lifestyle, must be done through a real-life personal consultation with a licensed health practitioner. The views expressed by the users here are their personal views and Wellcure claims no responsibility for them.

Read more
Post as Anonymous User
9 Answers

10:58 AM | 22-11-2019

Dear Manjari,

Here are some resources that might be of help:

  1. Q&A thread to a similar query related to acidity
  2. Health Journeys of people made lifestyle changes and managed their acidity problem
  3. Body Wisdom blogs:
  4. You may consult a Nature Cure expert through our Nature-Nurtures Program who can help your wife in making the transition to a natural lifestyle, step by step. 

    .

Team Wellcure



01:59 PM | 26-08-2019

Clean the gut.  Stop meds, eat fruits majorly and drink veg juices. Flush the stomach with raw juices slowly and then start solids in the form of fruits first and then veggies. Have juicy vegetables for most of the day  for juicing . Quit all kinds of animal products like dairy eggs meat fish.. ur gut will heal in 1-2 months and get better n better as days progress . Apply a cold wet cloth for 1 hr daily twice or thrice a day on ur stomach 

 

Be blessed 

Smitha Hemadri ( Educator of natural healing practices )



01:59 PM | 26-08-2019

नमस्ते

 

निष्कासन ठीक प्रकार से और सही माध्यम से ना हो तो शरीर ग़लत माध्यम से शरीर में पनप रहे विषाक्त कणों को निकालता है क्योंकि शरीर का एक लक्ष्य है अनचाहे विषाणुओं को शरीर से निकाल बाहर करना है। ख़राब हाज़मा से अम्ल अधिक बन रहा है। खुराक   सम्बन्धी सुधार करें।

एनिमा किट मँगा लें। यह किट ऑनलाइन मिल जाएगा। इससे 100ml पानी गुदाद्वार से अंदर डालें और प्रेशर आने पर मल त्याग करें। ऐसा दिन में एक बार करना है अगले 21 दिनों के लिए। ये करना है ताकि शरीर में मोजुद विषाणु निष्कासित हो जाये।

पृथ्वी और शरीर का बनावट एक जैसा 70% पानी से भरा हुआ। पानी जो कि फल, सब्ज़ी से मिलता है।

1 आकाश तत्व- एक खाने से दूसरे खाने के बीच में विराम दें। रोज़ाना 15 घंटे का उपवास करें जैसे रात का भोजन 7 बजे तक कर लिया और सुबह का नाश्ता 9 बजे लें।

2 वायु तत्व- लंबा गहरा स्वाँस अंदर भरें और रुकें फिर पूरे तरीक़े से स्वाँस को ख़ाली करें रुकें फिर स्वाँस अंदर भरें ये एक चक्र हुआ। ऐसे 10 चक्र एक टाइम पर करना है। ये दिन में चार बार करें।

खुली हवा में बैठें या टहलें।

3 अग्नि तत्व- सूरर्य उदय के एक घंटे बाद या सूर्य अस्त के एक घंटे पहले का धूप शरीर को ज़रूर लगाएँ। सर और आँख को किसी सूती कपड़े से ढक कर। जब भी लेंटे अपना दायाँ भाग ऊपर करके लेटें ताकि आपकी सूर्य नाड़ी सक्रिय रहे।

4 जल तत्व- खाना खाने से एक घंटे पहले नाभि के ऊपर गीला सूती कपड़ा लपेट कर रखें और खाना के 2 घंटे बाद भी ऐसा करें।

नीम के पत्ते का पेस्ट अपने नाभि पर रखें। 20मिनट तक रख कर साफ़ कर लें।

खाना खाने से एक घंटे पहले नाभि के ऊपर गीला सूती कपड़ा लपेट कर रखें और खाना के 2 घंटे बाद भी ऐसा करें।

नीम के पत्ते का पेस्ट अपने नाभि पर रखें। 20मिनट तक रख कर साफ़ कर लें।

मेरुदंड स्नान के लिए अगर टब ना हो तो एक मोटा तौलिया गीला कर लें बिना निचोरे उसको बिछा लें और अपने मेरुदंड को उस स्थान पर रखें।

मेरुदंड (स्पाइन) सीधा करके बैठें। हमेशा इस बात ध्यान रखें और हफ़्ते में 3 दिन मेरुदंड का स्नान करें। 

5 पृथ्वी- सब्ज़ी, सलाद, फल, मेवे, आपका मुख्य आहार होगा। आप सुबह सफ़ेद पेठे 20ग्राम पीस कर 100 ml पानी में मिला कर पीएँ। 2 घंटे बाद फल नाश्ते में लेना है।

दोपहर में 12 बजे फिर से इसी जूस को लें। इसके एक घंटे बाद खाना खाएँ।शाम को 5 बजे सफ़ेद पेठे (ashguard) 20 ग्राम पीस कर 100 ml पानी मिला। 2घंटे तक कुछ ना लें। रात के सलाद में हरे पत्तेदार सब्ज़ी को डालें। कच्चा पपीता 50 ग्राम कद्दूकस करके डालें। कभी सीताफल ( yellow pumpkin)50 ग्राम ऐसे ही डालें। कभी सफ़ेद पेठा (ashgurad) 30 ग्राम कद्दूकस करके डालें। ऐसे ही ज़ूकीनी 50 ग्राम डालें।कद्दूकस करके डालें। ताज़ा नारियल पीस कर मिलाएँ। कभी काजू बादाम अखरोट मूँगफली भिगोए हुए पीस कर मिलाएँ। रात का खाना 8 बजे खाएँ।

लाल, हरा, पीला शिमला मिर्च 1/4 हिस्सा हर एक का मिलाएँ। इसे बिना नमक के खाएँ। नमक सेंधा ही प्रयोग करें। नमक की मात्रा dopahar के खाने में भी बहुत कम लें। सब्ज़ी पकने बाद उसमें नमक नमक पका कर या अधिक खाने से शरीर में (fluid)  की कमी हो जाती है। एक नियम हमेशा याद रखें ठोस (solid) खाने को चबा कर तरल (liquid) बना कर खाएँ। तरल (liquid) को मुँह में घूँट घूँट पीएँ। खाना ज़मीन पर बैठ कर खाएँ। खाते वक़्त ना तो बात करें और ना ही TV और mobile को देखें। ठोस (solid) भोजन के तुरंत बाद या बीच बीच में जूस या पानी ना लें। भोजन हो जाने के एक घंटे बाद तरल पदार्थ (liquid) ले सकते हैं।

ऐसा करने से हाज़मा कभी ख़राब नहीं होगा।

जानवरों से उपलब्ध होने वाले भोजन वर्जित हैं।

 

तेल, मसाला, और गेहूँ से परहेज़ करेंगे तो अच्छा होगा।

धन्यवाद।

रूबी, 

 

प्राकृतिक जीवनशैली प्रशिक्षिका व मार्गदर्शिका (Nature Cure Guide & Educator)



01:58 PM | 26-08-2019

Hi Manjari lets understand what is an acidity. Acidity is the sign of the body that digestion is not happening properly. There is not an healthy absorption of nutrients in the blood so may be causing in acidity. 

A disease free body is not a healthy body. Healthy body is the one each and every cell is working properly and there is a healthy absorption of nutrient in the blood. 

The first thing you must follow is eat a diet which contain 50 percent of fresh fruits and vegetables and then gradually increase same to 70 percent. Now this can be done by following simple steps. 

1. Start with your day with luke warm water. And if possible chew one small clove. 
2. Breakfast should be only fruits preferably a green smoothie, how you make same is blend together with water some banana, apple and green leaves like spinach, coriander etc. 
3. Only fruits before 12 pm.
4. Include salad before lunch. You can find many interesting recipes in our recipe section. 
5. Drink lemon and mint water during the day, lemon and mint water increase the alkanity in the body. 
6. Finish your dinner before 7PM. 
7. Whenever you feel hungry during the day eat cucumbers, banana etc.
8. Avoid eating out and all junk food.
9. Stop consumption of milk and milk products. 

I hope by following above you will be able to reduce your acidity. All the best..



12:51 PM | 23-12-2019

Hi Manjari,

I am sure with all the information to listen above you clear enough about your problems and the solution to it, Here are some add ons which you can try.

  • Having tomato with black pepper an hour before a meal will help in reducing acidity by keeping your stomach's pH normal.
  • Fennel helps a lot in curbing acidity, here are two ways with which you can have them as a mouth freshener or fennel tea. fennel teaMouth freshener
  • Adding cumin seeds in your diet will again help you with acid-related issues a lot, Cumin Water

Thank you



11:01 AM | 22-11-2019

Dear health seeker Manjari,

The  root cause of all diseases acidity, acid reflux or of total gastrointestinal diseases including, is 'Dyspepsia ', whose management through basic nature cure requires total discipline and entire reforms of eating habits in general and complete lifestyle changes are warranted. You will have to follow the eternal laws governing our organism will definitely ensure freedom from all diseases symptoms including your specific stomach ailments. Please follow as under:-

  1. ensure to eat only when sufficient true hunger is there to digest the food eaten. We must  eat to  live  and not  live to eat 
  2. As a start drink any alkaline juice either of the following, ashgourd, bilva patra, banana pith. 7o ml.
  3. Sunbathing in early morning sun for  25 minutes, followed by a spinal bath or  full bath 
  4. Some simple  yogic  aasanas 
  5. A  wet  pack over the abdomen for 20 minutes  twice a day 
  6. Fruit salads or  vegetables salads in  breakfast 
  7. Conservatively  cooked  vegetables and  raw  salads with  enough  coconut scrappings 
  8. Fruit  juice  at or  around 4 PM if  there's  a  sufficiency of  hunger, if not then avoid 
  9. Conservatively cooked vegetables plus one or two roti or small amounts of rice.
  10. Sleep on a  hard bed.
  11. Needless to  mention that  avoid all  enervating foods and  habits 

   You may take as many months to get rid of your affliction for as many years you are undergoing this trouble. 
   A  very nice and healthy life is there,  waiting in the wings.
Wish you a healthy and  sublime health 
  V.S.Pawar    MIINT 



12:17 PM | 23-12-2019

Hi Manjari

Acidity is the sign of the body that digestion is not happening properly. There is not a healthy absorption of nutrients in the blood so maybe causing in acidity. This can cause burning in chest and pain is because of stomach acid backs up into your oesophagus (the tube that carries food from your mouth to your stomach). if this happens frequently its termed as GERD.

Triggering factors for this will be spicy foods, alcohol, some pain killers, skipped meal, irregular meal timings.

By changing some food habits and lifestyle can bring a great change in your condition:

  1. Ash guard juice 200ml + 1 spoon honey in early morning empty stomach will keep your acids neutralized.
  2. Make sure to maintain your meal timings constant if you miss the meal make sure to drink WATER and eat FRUITS,
  3. Eat seasonal fruits 15 mins before meals.
  4. Boil cumin seeds and in water and drink that water night at bedtime.

(200ml water with 10 grams cumin boil it for 10 mins strain it and drink the liquid)

  1. Avoid smoking, alcohol, spicy foods, caffeinated drinks
  2. Avoid coffee, chocolate, tea, and late-night snacking
  3. Consume more greens and chew food completely before you swallow
  4. Drink ginger tea in evening 2 hours post-lunch
  5. Don’t sleep immediately after a meal.
  6. Always Sleep 2 hour after dinner
  7. Drink half glass of water every 1 hour to keep the acids low.
  8. Drink herbal teas.
  9. Consumption of Ajwain will help to maintain normal PH of gastric juices,
  10. 200 ml water boiled with 2 spoons of Ajwain and drink it during the episode will give u instant relief.

 

BY FOLLOWING THE ABOVE GUIDELINES YOU CAN GET RID OF YOUR ACIDITY.

 

Thank you …….



08:10 PM | 28-11-2019

नमस्ते,

आमाशय में पाचन क्रिया के लिए हाइड्रोक्लोरिक अम्ल तथा पेप्सिन का स्रवण होता है। सामान्य तौर पर यह अम्ल तथा पेप्सिन आमाशय में ही रहता है तथा भोजन नली के सम्पर्क में नहीं आता है। आमाशय तथा भोजन नली के जोड पर विशेष प्रकार की मांसपेशियां होती है जो अपनी संकुचनशीलता से आमाशय एवं आहार नली का रास्ता बंद रखती है तथा कुछ खाते-पीते ही खुलती है। जब इनमें कोई विकृति आ जाती है तो कई बार अपने आप खुल जाती है और एसिड तथा पेप्सिन भोजन नली में आ जाता है। जब ऐसा बार-बार होता है तो आहार नली में सूजन तथा घाव हो जाते हैं।एसिडिटी का प्रमुख लक्षण - रोगी के सीने या छाती में जलन। अनेक बार एसिडिटी की वजह से सीने में दर्द भी रहता है, मुंह में खट्टा पानी आता है। जब यह तकलीफ बार-बार होती है तो गंभीर समस्या का रूप धारण कर लेती है। एसिडिटी के कारण कई बार रोगी ऐसा महसूस करता है जैसे भोजन उसके गले में आ रहा है या कई बार डकार के साथ खाना मुँह में आ जाता है। रात्रि में सोते समय इस तरह की शिकायत ज्यादा होती है। कई बार एसिड भोजन नली से सांस की नली में भी पहुंच जाता है, जिससे मरीज को दमा या खांसी की तकलीफ भी हो सकती है। कभी-कभी मुंह में खट्टे पानी के साथ खून भी आ सकता है।

  • सोने से पहले और सुबह में जागने के तुरंत बाद हर दिन गुनगुने पानी का एक गिलास पीने से आप एसिडिटी की समस्या से निजात पा सकते है.।
  • भोजन में 50% मौसमी फल एवं 35% हल्की हरी पत्तेदार सब्जियां 10% अंकुरित अनाज एवं 5% सूखे मेवे का प्रयोग करें इससे शरीर में अम्ल एवं क्षार का संतुलन बना रहता है शरीर के सभी अंग सुचारू रूप से अपना कार्य करते हैं।
  • प्यास लगने पर मिट्टी के घड़े में रखे हुए जल को बैठकर धीरे-धीरे सेवन करें शरीर को आवश्यक मात्रा में जल की आपूर्ति होती ह
  • सप्ताह में कम से कम 1 दिन उपवास रहें, इससे पाचन संस्थान को आराम मिलता है।
  • तुलसी के पत्तों के सुखदायक और वातहर गुण से आप एसिडिटी, गैस और मतली से तत्काल राहत पा सकते है. • एसिड की समस्या से परेशान होना शुरू होते ही कुछ तुलसी के पत्ते खा लें और उन्हें अच्छी तरह से चबाकर खाएं.।
  • थोड़ा सा भुना हुआ जीरा लें और इसका पाउडर बना लें और एक गिलास पानी में मिलाकर पिएं. हर भोजन के बाद इसे पीने से एसिडिटी की समस्या एक हफ्ते में गायब हो जाती है.
  •  एक अन्य विकल्प के लिए एक चम्मच धनिया बीज पाउडर, जीरा पाउडर, सौंफ बीज पाउडर और पानी के आधा कप में डालकर मिश्रण बना लें और इससे खाली पेट पीने से एसिडिटी गायब हो जाती है.।

निषेध -जानवरों से प्राप्त भोज्य पदार्थ ,चाय ,काफी, चीनी ,मिठाईयां ,नमक ,नमकीन ,ठंडे पेय पदार्थ, मैदा से बनी हुई चीजें ,रात्रि जागरण, सोने से 2 घंटे पहले मोबाइल, टेलीविजन ,कंप्यूटर का प्रयोग।

 



10:58 AM | 22-11-2019

Acidity problem can be easily solved by natural methods

  • Avoid tea/coffee/spicy foods
  • Have lot of fruits and raw vegetables.These would neutralize the acidity if taken frequently. 
  • Drink lot of water. 
  • Consider taking tender coconut water/ashguard juices in the empty stomach.
  • Wet cloth on the abdomen in the empty stomach would give you lot of relief. 
  • Mud pack/mud bath also would give you relief. 

Scan QR code to download Wellcure App
Wellcure
'Come-In-Unity' Plan